SJ Financial II - шаблон joomla Форекс

wrapper

Breaking News

A1TV Jaipur

A1TV Jaipur

रूस ने ISIS पर गिराया 'फादर ऑफ ऑल बॉम्ब'

सीरिया : रूस ने आतंकी संगठन आइएस के शीर्ष कमांडरों पर शक्तिशाली 'फादर ऑफ ऑल बॉम्ब' से हमला किया है. यह हमला पूर्वी सीरियाई शहर देर अज-जोर में किया गया. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार आईएस के नेताओं पर गिराया गया यह सबसे बड़ा गैर-परमाणु बम है. हमले में इस्लामिक स्टेट के चार नेता मारे गए हैं. इससे पहले रूस ने 8 सितंबर को सीरिया में इस्लामिक स्टेट के चार शीर्ष कमांडर को मारने का दावा किया था. रूस की समाचार समितियों ने शुक्रवार (8 सितंबर) को रक्षा मंत्रालय के एक बयान के हवाले से बताया कि हवाई हमले में 40 आतंकवादी मारे गए. रिपोर्टों के अनुसार, इनमें आतंकवादी नेता अबू मुहम्मद अल-शिमाली और गुलमुरोद खलीमोव शामिल हैं.

Read more

अहमदाबाद: शिंजो आबे और पीएम मोदी का होगा रोड शो, भव्य कार्यक्रम

नई दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 14 सितंबर को अहमदाबाद के साबरमती में जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे के साथ बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट का भूमि पूजन करेंगे. इसके लिए जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे बुधवार से दो दिन के भारत दौरे पर आ रहे हैं. दोनों दिन वे गुजरात में ही रहेंगे. आबे मोदी के साथ मुंबई-अहमदाबाद बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट की शुरुआत करेंगे.
 
बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट के शिलायन्स के बाद दोनों नेताओं के बीच एक बैठक भी होगी. इस दौरान जापान और गुजरात सरकार के बीच जापान इंडिया इंस्टीट्यूट मैन्युफैक्चरिंग की स्थापना के लिए भी एक एमओयू साइन होगा. पिछली बार पीएम मोदी ने आबे की अगवानी बनारस में की थी. इस बार अहमदाबाद में करने वाले हैं. बता दें कि मोदी-आबे पिछले तीन साल में 10 बार मुलाकात कर चुके हैं.
 
वहीं रेल मंत्री पीयूष गोयल ने कहा है कि तेज स्पीड वाली बुलेट ट्रेन का किराया किफायती रखा जाएगा. वहीं रेल मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा है कि सरकार का लक्ष्य अहमदाबाद-मुंबई बुलेट ट्रेन को देश के 75वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर यानी 15 अगस्त, 2022 को शुरू करना है.
Read more

मोदी सरकार ऐसे रेल दुर्घटना पर लगाएगी रोक, जीपीएस से होगी निगरानी

नई दिल्ली। लगातार हो रहे रेल हादसों को रोकने के लिए रेल मंत्रालय ने एक नया प्लान बनाया है। रेल मंत्रालय ने पटरियों की जांच के लिए इस्तेमाल की जा रही सभी ट्रालियों में जीपीएस ट्रैकर लगाने का फैसला किया है। इन ट्रालियों को पटरी पर हाथ से धकेल कर चलाया जाता है और रेल के आने से पहले ये सुनिश्चित किया जाता है कि ट्रैक ठीक है या नहीं।

6 सितंबर को रेलवे बोर्ड ने सभी जोनल रेलवे को एक पत्र भेज कर एक महीने के अंदर इसके लिए तैयारी शुरु करने को कहा है। पत्र में ये निर्देश दिया गया है कि सभी ट्रालियों के लिए अलग-अलग नंबर निर्धारित की जाए, जिससे पटरियों की सुरक्षा जांच प्रभावी तरीके से हो सके। साथ ही एक महीने के अंदर ट्रालियों पर जीपीएस ट्रैकर लगाने का काम पूरा कर लिया जाए। जानकारों का मानना है कि ऐसी प्रणाली विकसित करने से यह सुनिश्चित हो पाएगा कि सेक्शन इंजीनियर नियमित रूप से निगरानी कर रहे हैं या नहीं। साथ ही मरम्मत कार्यों का भी समूचित रूप से जायजा लिया जा सकेगा।

Read more

Contact Us

For General Enquiry
  •  : info@a1tv.tv
  •  : 0141 - 4515121, 4515151
For Advertising
  • : advt@a1tv.tv,      a1tv.advt@gmail.com
  •  : +91- 98280-11251, 98280-10551
  •  : +91- 98280-10551