SJ Financial II - шаблон joomla Форекс

wrapper

Breaking News

BHIM एप से लोगो को जोड़ने पर कमा सकते है दिन में 200 रुपये , ये है मोदी के भाषण की 5 ख़ास बाते

नागपुर. नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को डॉ. भीमराव अंबेडकर की 126वीं जयंती पर BHIM आधार- पे फैसिलिटी लॉन्च की। इसके बाद प्रधानमंत्री आवास योजना की भी शुरुआत की। भीम आधार-पे के द्वारा आप अपनी उंगली के जरिए कहीं भी आसानी से पेमेंट कर सकेंगे। मोदी ने कहा- अगर आप भीम ऐप के बारे में किसी दुकानदार, नागरिक, व्यवसायी को समझाएंगे। उसके मोबाइल पर ऐप डाउनलोड करेंगे और वो तीन ट्रांजैक्शन करेगा। एक आदमी को जोड़ने पर आपको 10 रुपए खाते में जमा हो जाएंगे। जो व्यापारी अपनी दुकान पर भीम ऐप को लागू करेगा, उसके खाते में 25 रुपए आएंगे।

मोदी के भाषण की 5 ख़ास बाते-

1 - भीम ऐप से युवाओं को पैसा कमाने का मौका मिलेगा | मोदी ने कहा “युवा छुट्टियों में काम करना चाहते हैं। ऐसे युवाओं के लिए मेरे पास योजना है। अगर आप भीम ऐप के बारे में किसी दुकानदार, नागरिक, व्यवसायी को समझाएंगे। उसके मोबाइल पर ऐप डाउनलोड करेंगे और वो तीन ट्रांजैक्शन करेगा। एक आदमी को जोड़ने पर आपको 10 रुपए खाते में जमा हो जाएंगे।अगर दिन में 20 लोगों को जोड़ा तो शाम को 200 रुपए आ जाएंगे। जो व्यापारी अपनी दुकान पर भीम ऐप को लागू करेगा, उसके खाते में 25 रुपए आएंगे। ये योजना 14 अक्टूबर तक चलेगी। 6 महीने हमारे पास हैं, हर नौजवान 10-15 हजार आराम से कमा सकता है।”

2 - हर गरीब के पास घर हो| मोदी ने कहा, “2022 में आजादी के 75 साल पूरे हो रहे हैं। पल भर के लिए हम 1930-40 से पहले के वक्त का समय जीने की कोशिश करें। तब देश के लिए लोग जान की बाजी लगा देते थे। मां भारती के लिए मर मिटने वालों की कतार कभी खत्म नहीं हुई थी। फांसी के फंदे कम हो जाते थे| हमें आजादी के आंदोलन में जिंदगी खपाने का मौका नहीं मिला। हमें देश के लिए मरने का मौका भले न मिला हो, देश के लिए जीने का मौका मिला है। 2022 में देश के गरीब से गरीब आदमी के पास घर हो। घर में बिजली, पानी, गैस का चूल्हा, स्कूल, अस्पताल हो।”

3 - भीम ऐप अर्थव्यवस्था का महारथी साबित होगा पीएम मोदी के मुताबिक, “डिजी धन-निजी धन गरीब की आवाज बनने वाला है। सुखी से सुखी परिवार बंडल नहीं देते बेटों को, क्योंकि उन्हें पता है कि इससे अच्छा कम होता है और बुरा ज्यादा होता है। जो परिवार में होता है, वो समाज में और अर्थव्यवस्था में होता है। कम कैश में परिवार चलाया जा सकता है। भीम ऐप अर्थव्यवस्था के महारथी के रूप में काम करने वाली है।”

4 - करंसी पर आने वाला खर्च गरीबों के लिए इस्तेमाल हो| मोदी ने कहा, “हिंदुस्तान में करंसी छापना, सुरक्षित पहुंचाने में अरबों-खरबों रुपए खर्च होते हैं। अगर ये रुपए बच जाएं तो कितने गरीबों के घर बन जाए। ये संभव है इसलिए करना है। एक एटीएम की रक्षा के लिए 5-5 पुलिस वाले लगे होते हैं। कम कैश का चलन हो जाए तो मोबाइल फोन ही एटीएम बन जाएगा।”

5 - अफ्रीकी देश भी अपनाना चाहते हैं | मोदी ने कहा, “भीम और आधार दुनिया में आर्थिक बदलाव का आधार बनने वाला है। मुझसे अफ्रीकन देशों ने इस बारे में पूछा और कहा कि हमारे देश के लिए भी आप ऐसा कर सकते हैं क्या? डिजीधन के तहत 100 शहरों में कार्यक्रम किए गए। लोगों ने टेक्नोलॉजी को समझने, स्वीकार करने की कोशिश की। बहुत लोगों को इनाम िमला। एक सज्जन चेन्नई के, जिन्होंने कहा कि ये इनाम वो गंगा सफाई के लिए दान करते हैं।”

Read more

डिजिधन योजना ने "श्रद्धा" को बनाया करोड़पति

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज डिजिधन योजना के विजेता का ऐलान किया. महाराष्ट्र की श्रद्धा को मिला 1 करोड़ रुपये का इनाम. उन्होंने मात्र 1590 रुपये का भुगतान किया था. आपको बता दे कि केंद्र सरकार ने यह योजना बीते 25 दिसंबर को शुरू की थी. श्रद्धा मोहन महाराष्ट्र के लातूर की रहने वाली हैं, श्रद्धा के पिता छोटी सी किराने की दुकान चलाते हैं.

डिजिधन व्यापार योजना के तहत इन्हें मिला इनाम
तमिलनाडु के वेस्ट तांबरम के जीआरटी ज्वैलर्स ने आईसीआईसीआई के जरिए महज 300 रुपये का भुगतान कर 50 लाख रुपये जीते. इसके तहत एमडी जीआर राधाकृष्णन ने किया पुरस्कार ग्रहण किया. उन्होंने इनाम में मिले पैसों को गंगा की सफाई के लिए दान किया. उनके बैंक आईसीआईसीआई बैंक ने भी 50 लाख रुपये भी दान किये.

दूसरा पुरस्कार ठाणे की रागिनी राजेंद्र उत्तेकर को मिला. उन्होंने पीएनबी के जरिये महज 510 रुपये का भुगतान किया था. तो वहीं तीसरा पुरस्कार हैदराबाद के शेख रफी को मिला जिन्होंने 2000 रुपये का भुगतान किया था और उन्हें 12 लाख रुपये का इनाम मिला.

लकी ग्राहक योजना के मेगा ड्रा के विजेताओं के नाम -
पहला पुरस्कार श्रद्धा मोहन मैनशेट्टी
लातूर महाराष्ट्र से इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग की छात्रा श्रद्धा ने मोबाइल की किश्त चुकाने के लिए सेंट्रल बैंक के जरिए रुपये कार्ड से 1590 रुपये का भुगतान किया था

दूसरा पुरस्कार 50 लाख रुपये गुजरात के हार्दिक कुमार चिमनभाई प्रजापति को मिला जिन्होंने बैंक ऑफ बड़ोदा के रुपये कार्ड के जरिए 1100 रुपये का डिजिटल ट्रांजेक्शन किया था | वे पेशे से शिक्षक हैं

तीसरा पुरस्कार विजेता भरत सिंह देहरादून उत्तराखंड के हैं उन्होंने 100 रुपये का डिजिटल ट्रांजेक्शन किया, पीएनबी के जरिए किया था भुगतान. 37 साल के हैं, 9वीं तक पड़े हैं, कपड़े की दुकान में का करते हैं.

सरकार ने शुरू की थी योजना
25 दिसंबर 2016 को केंद्र सरकार ने डिजिटल पेमेंट को बढ़ावा देने के लिये इन योजनाओं की शुरुआत की थी. केंद्र की ओर से लकी ग्राहक योजना और डिजिधन व्यापार योजना की शुरुआत हुई थी. डिजिधन व्यापार योजना के तहत 16 लाख लोगों ने लगभग 258 करोड़ रुपये जीते हैं.

राष्ट्रपति ने किया था सम्मानित
इससे पहले हाल ही में सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया के एक ग्राहक को सरकार की डिजिटल भुगतान को लोकप्रिय बनाने की मुहिम का जबरदस्त लाभ हुआ है. उसके डिजिटल माध्यम से किए गए 1590 रुपये के भुगतान को लकी ड्रॉ योजना में एक करोड़ रुपये का इनाम मिला है. राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने राष्ट्रपति भवन में डिजिटल भुगतान संवर्धन योजना के तहत इस प्रोत्साहन योजना का 100वां ड्रॉ निकालकर विजेताओं को चुना. इस इनामी योजना के छह विजेताओं में तीन ग्राहक और तीन दुकानदार शामिल हैं.

Read more

अब Whatsapp से आसानी से ट्रांसफर कर पाएंगे पैसे,अगले 6 महीने में शुरू हो सकती है ये सर्विस

 


नई दिल्ली। नोटबंदी के बाद से ही भारत को डिजिटल बनाने के प्रयास किये जा रहे हैं। सूत्रों की मानें तो भारत में डिजिटल वॉलेट के बढ़ते चलन को देखकर WhatsApp डिजिटल पेमेंट सेक्टर में आने के बारे में सोच रहा है। इन दिनों WhatsApp में आने वाले नए फीचर को लेकर चर्चाएं काफी जोर-शोर से हो रही हैं। खबरों कि मानें तो WhatsApp UPI बेस्ड डिजिटल पेमेंट सिस्टम लाने की तैयारी कर रहा है, जो डिजिटल इंडिया को बढ़ावा देने के लिए बनाया जा रहा है। सुनने में आ रहा है कि ये फीचर इस साल के आखिरी तक लॉन्च हो सकता है।
'दे केन' वेबसाइट की रिपोर्ट के मुताबिक, डिजिटल ट्रांजेक्शन बिजनेस के लिए वॉट्सएप और एनपीसीआई (नेशनल पेमेंट कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया) में बातचीत चल रही है. कंपनी इसके लिए ऐसे शख्स को तलाश रही है, जो आधार, यूपीआई और भीम एप में एक्सपर्ट नॉलेज रखता हो. रिपोर्ट में यह भी बताया गया कि ये सर्विस यूजर टू यूजर बेस्ड होगी और अगले 6 महीने में लॉन्च हो सकती है.


क्या है UPI बेस्ड डिजिटल पेमेंट सिस्टम?

ध्यान दें कि भारत में पिछले साल काले धन की समस्या से निपटने के लिए और अर्थव्यवस्था को बेहतर बनाने के लिए सरकार द्वारा नोटबंदी का फैसला लिया गया था। इसके बाद देश में digitalization को बढ़ावा देने की कोशिश की जा रही है। नोटबंदी के बाद कैशलैस सुविधा के लिए सरकार ने भीम एप जैसी सर्विस भी पेश की। इसके अलावा कैशलैस सर्विस और digitalization को बढ़ावा देने के लिए कई मोबाइल वॉलेट एप और डिजिटल पेमेंट एप शुरु किए गए। हाल ही में ट्रूकॉलर 8 को एंड्रायड के लिए लॉन्च किया गया। इसमें कई नए फीचर्स दिए गए, जिसमें यूजर्स यूपीआई प्लेटफॉर्म की मदद से ट्रांजेक्शन कर सकते हैं।
व्हाट्सएप की यह नई सर्विस देश में पहले से उपलब्ध पेमेंट सर्विस जैसे कि एंड्रायड पे और एप्पल पे के लिए कड़ी टक्कर साबित हो सकती है। गौरतलब है कि इसी साल व्हाट्सएप के सह-संस्थापक ब्रायन एक्टन ने संकेत दिया था और कहा था कि, "हम भारत में अधिक से अधिक लोगों को निवेश करने में सहायता करना चाहते हैं"।
और कौन-कौन से है पेमेंट वॉलेट?
आपको बता दें कि सैमसंग ने भी हाल ही में भारत में अपनी लोकप्रिय डिजिटल सर्विस सैमसंग पे को लॉन्च किया था। इसमें उपभोक्ताओं को स्मार्टफोन के साथ-साथ फीचर फोन में भी कॉन्टैक्टलैस पेमेंट की सुविधा मिलेगी। इसके अलावा भीम एप के द्वारा भी आप डिजिटल पेमेंट कर सकते है और माना जा रहा है कि एप्पल के फोन में भी पेमेंट सर्विस जैसे फीचर्स आने वाले है।

Read more

Contact Us

For General Enquiry
  •  : info@a1tv.tv
  •  : 0141 - 4515121, 4515151
For Advertising
  • : advt@a1tv.tv,      a1tv.advt@gmail.com
  •  : +91- 98280-11251, 98280-10551
  •  : +91- 98280-10551