SJ Financial II - шаблон joomla Форекс

wrapper

Breaking News

देश-विदेश

देश-विदेश (128)

भारतीय वैज्ञानिकों के कौशल और प्रौद्योगिकी विकास के प्रतीक के तौर पर 1999 से हर साल 11 मई को राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस मनाया जाता है। 11 मई का चुनाव स्वाभाविक है क्योंकि इसी दिन 1998 में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के नेतृत्व में भारत ने पोखरण में पांच परमाणु परीक्षणों में से पहले को सफलतापूर्वकर अंजाम दिया था। इन परीक्षणों ने पूरे विश्व को भारत की ताकत से परिचित कराया।

पोखरण परीक्षण में भारतीय वैज्ञानिकों के शानदार योगदान को याद करते हुए नरेंद्र मोदी कहते हैं, "दुनिया पोखरण परीक्षण से बहुत अच्छी तरह से अवगत है। अटलजी के नेतृत्व में सफलतापूर्वक ये परीक्षण हुए और पूरी दुनिया भारत के ताकत की गवाह बनी। वैज्ञानिकों ने देश को गौरवान्वित किया।"

मोदी इस घटना को याद करते हुए आगे कहते हैं, "परीक्षणों की पहली सीरीज के बाद विश्व समुदाय ने भारत पर प्रतिबंध लगा दिये। 13 मई, 1998 को अटलजी ने फिर परीक्षणों के लिए कहा। इस तरह यह दिखलाया कि वे किसी और चीज से बने हैं। अगर हमारे पास कमजोर प्रधानमंत्री होते तो वह उसी दिन डर गये होते। लेकिन अटलजी अलग थे। वे डरे नहीं।"

परमाणु परीक्षणों के दौरान चुप्पी बनाए रखने पर पोखरण के लोगों की भूमिका की सराहना करते हुए श्री मोदी कहते हैं, "पोखरण के लोगों की निश्चित रूप से सराहना करनी होगी, जिन्होंने परीक्षण की योजना से लेकर उस पर अमल करने तक चुप्पी बनाए रखी। उन्होंने देश हित को बाकी सभी चीजों से ऊपर रखा।"

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को दिल्ली में सुप्रीम कोर्ट के एक कार्यक्रम में हिस्सा लिया. इस दौरान पीएम ने न्यू इंडिया का रोडमैप पेश किया. पीएम मोदी ने इस दौरान कहा कि अब पूरा विश्व बदल रहा है, अगर हम इसके साथ नहीं चलेंगे तो हमें पूछने वाला कोई नहीं होगा. मोदी ने अपने भाषण में कहा कि आज के समय में टेक्नालॉजी का काफी महत्व है. देश में जल्द ही ऑनलाइन याचिका डालने की प्रक्रिया भी शुरू होगी.

पीएम ने अपने भाषण के दौरान देश को एक नया मंत्र दिया. मोदी ने न्यू इंडिया के लिए IT+IT= IT का मंत्र दिया और इसका मतलब भी समझाया. मोदी ने बताया कि IT+IT= IT का मतलब इंडियन टेक्नोलाजी + इंडियन टैलेंट = इंडियन टुमारो. ये पहली बार नहीं है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को कोई मंत्र दिया हो. इससे पहले भी कई बार पीएम मोदी के कई नारे फेमस हो चुके हैं, मोदी कई नई परिभाषा भी गढ़ चुके हैं.

1. विकास - विकास की नई परिभाषा देते हुए मोदी ने कहा था कि 'जब मैं विकास बोलता हूं तो उसका मतलब होता है वि से विद्युत , क से क़ानून व्यवस्था और स से सड़क'

2. P2G2 - प्रधानमंत्री ने अपनी पार्टी को P2G2 (Pro People Pro Active Good Governance) यानी जन कल्याण और सुशासन का मंत्र दिया हुआ है.

3. 3D फॉर्मूला - पीएम मोदी ने अटल बिहारी वाजपेयी की बात का उदाहरण देते हुए डीबेट(Debate), डेलीब्रेशन (Deliberation) और डिस्कशन(Discussion) का नारा पेश किया था.

4. 'पर ड्रॉप मोर क्रॉप' - मोदी ने कृषि मेले के दौरान नया फॉर्मूला दिया था. पीएम ने 'पर ड्रॉप मोर क्रॉप' सिंद्धांत का ज़िक्र करते हुए कहा कि इस से पानी का सही इस्तेमाल होगा और किसानों को ज्यादा पैदावार मिलेगी.

5. SCAM की नई परिभाषा - उत्तर प्रदेश के चुनाव के दौरान मोदी ने SCAM शब्द की नई परिभाषा बताई थी. मोदी ने बताया था कि एस से समाजवादी, सी से कांग्रेस, ए से अखिलेश, एम से मायावती.

6. सबका साथ- सबका विकास - इन सभी नारों के अलावा सबका साथ-सबका विकास ही एक ऐसा नारा है जिसका जिक्र मोदी अपने हर भाषण में करते हैं. मोदी सरकार इस नारे को अपना मंत्र बताती है.

श्रीनगर। जम्मू एवं कश्मीर के शोपियां जिले में बुधवार सुबह एक सैन्य अधिकारी का गोलियों से छलनी शव मिला है। शव की पहचान सैन्य लेफ्टिनेंट उमर फयाज के रूप में की गई है। एक पुलिस अधिकारी ने बताया, “आतंकवादियों ने अधिकारी को मंगलवार शाम कुलगाम जिले से अगवा कर लिया था, जहां वह एक पारिवारिक समारोह में शामिल होने गए थे।“ राज्य पुलिस ने अपने कर्मियों को सलाह जारी कर कहा है कि वे तब तक अपने पैतृक घरों में खासतौर पर दक्षिण कश्मीर में न जाएं जब तक कि इसे वापस नहीं ले लिया जाता। दक्षिण कश्मीर के पुलवामा, शोपियां, अनंतनाग और कुलगाम जिलों सहित अधिकांश जिलों में आतंकवादी गतिविधियां बढ़ गई हैं।

नई दिल्ली । चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया जेएस खेहर और सुप्रीम कोर्ट के जजों के खिलाफ बगावती तेवर अपनाने वाले कलकत्ता हाईकोर्ट के जज जस्टिस कर्णन पर बड़ी कार्रवाई हुई है। सुप्रीम कोर्ट ने कर्णन को अदालत, न्यायिक प्रक्रिया और पूरी न्याय व्यवस्था की अवमानना का दोषी मानते हुए छह महीने की सजा सुनाई है। जस्टिस कर्णन भारतीय जुडिशल सिस्टम के इतिहास में पहले ऐसे जज होंगे, जिन्हें पद पर रहने के दौरान जेल भेजे जाने का आदेश दिया गया है। सुप्रीम कोर्ट ने यह भी कहा है कि आदेश का तुरंत पालन हो। सुप्रीम कोर्ट ने भविष्य में जस्टिस कर्णन के बयानों को मीडिया में प्रकाशित किए जाने पर भी रोक लगा दी है। खेहर की अगुआई वाली बेंच ने वेस्ट बंगाल के डीजीपी को निर्देश दिया है कि वह कर्णन को कस्टडी में लेने के लिए कमिटी गठित करें।

क्या कहा सुप्रीम कोर्ट ने
अडिशनल सॉलिसिटर जनरल मनिंदर सिंह, सीनियर एडवोकेट केके वेणुगोपाल और रूपिंदर सिंह सूरी ने कहा कि जस्टिस कर्णन को सजा मिलनी ही चाहिए। हालांकि, वेणुगोपाल ने कहा, ‘अगर जस्टिस कर्णन को जेल भेजा जाता है कि इससे जुडिशरी पर एक पदासीन जज को जेल भेजने का कलंक लगेगा।’ वेणुगोपाल के मुताबिक, सोचना यह है कि क्या सीटिंग जज को सजा दी जाए या फिर उनके रिटायरमेंट के बाद सजा दी जाए क्योंकि वह जून में रिटायर हो रहे हैं। इस पर सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि अवमानना के मामले में यह नहीं देखा जा सकता है कि ऐसा एक जज ने किया है या आम शख्स ने। चीफ जस्टिस की अगुआई वाली बेंच ने कहा, ‘अगर जस्टिस कर्णन जेल नहीं भेजे जाएंगे तो यह कलंक आरोप लगेगा कि सुप्रीम कोर्ट ने एक जज की अवमानना को माफ कर दिया।’ कोर्ट ने कहा कि कर्णन को सजा इसलिए दी जा रही है क्योंकि उन्होंने खुद यह ऐलान किया था कि उनकी दिमागी हालत ठीक है।

श्रीनगर. भारतीय फौज ने पाकिस्तान को करारा जवाब दिया है. नौशेरा सेक्टर में पाकिस्तान के बंकर उड़ाए गए हैं. भारतीय जवानों ने एलओसी पर बने पाकिस्तानी बंकरों पर हमला कर उन्हें ध्वस्त कर दिया. नौशेरा में पाकिस्तान ने आज एक बार फिर से सीजफायर का उल्लंघन करते हुए फायरिंग शुरू कर दी. भारतीय सेना ने पाकिस्तान को इस फायरिंग का मुंहतोड़ जवाब दिया. भारतीय सेना ने पाकिस्तान के कई बंकरों को नेस्तनाबूद कर दिया. सूत्रों के मुताबिक भारतीय सेना की तरफ से एक के बाद एक सात धमाके किए गए.

आपको बता दें कि कृष्णा घाटी में ही पाकिस्तान की बॉर्डर ऐक्शन टीम के हमले में सेना के नायब सूबेदार परमजीत सिंह और बीएसएफ के कॉन्स्टेबल प्रेम सागर शहीद हुए थे. BAT ने दोनों शहीदों के शव क्षत-विक्षत कर दिए थे. इससे पूरे देश में आक्रोश है और पाकिस्तान से बदले की मांग की जा रही है. इस बीच सोमवार को भी पाकिस्तान ने सीजफायर का उल्लंघन किया. नौशेरा में पाकिस्तानी रेंजरों ने बिना किसी उकसावे के भारतीय चौकियों पर फायरिंग की. भारतीय सेना पाकिस्तान की गोलीबारी का मुंहतोड़ जवाब दे रही है.

नई दिल्‍ली। सुप्रीम कोर्ट ने निर्भया रेप कांड में फैसला सुना दिया है। कोर्ट ने हाईकोर्ट द्वारा दी गई सजा को बरकरार रखा है। इससे पहले लोअर कोर्ट ने दोषियों को फांसी की सजा दी थी।करीब साढे चार साल पहले 16 दिसंबर 2012 को हुए निर्भया रेप कांड ने पूरे देश को हिला दिया था। देर रात दोस्‍त संग मूवी देखकर लौट रही फिजियोथेरेपी स्‍टूडेंट से कुछ लोगों ने चलती बस में गैंगरेप किया था। बर्बरता की हद पार करते हुए इन लोगों ने स्‍टूटेंड के साथ जानवरों जैसा  बर्ताव किया था।

निर्भया रेप कांड में फैसला
पूरा देश टकटकी लगाए निर्भया रेप कांड में फैसला का इंतजार कर रहा था। वहीं पीडि़त परिवार भी कोर्ट से उम्‍मीद लगाए बैठी है। पीडि़ता की मां ने कहा है कि आरोपियों को मौत की सजा ही मिलनी चाहिए। वहीं अभी-अभी सुप्रीम कोर्ट का फैसला आया है। कोर्ट ने दोषियों की मौत की सजा बरकरार रखी है।

 

निर्भया केस का सफ़र

  1. 16 दिसंबर 2012: चलती बस में सामूहिक बलात्कार और क्रूरता
  2. 17 दिसंबर 2012: चार आरोपियों, राम सिंह, मुकेश, विनय शर्मा, पवन गुप्ता की शिनाख़्त
  3. 18 दिसंबर 2012: चारों आरोपी गिरफ़्तार
  4. 21 दिसंबर 2012: पांचवां नाबालिग आरोपी आनंद विहार बस अड्डे से पकड़ा गया
  5. 22 दिसंबर 2012: छठा आरोपी अक्षय ठाकुर औरंगाबाद से गिरफ़्तार
  6. 26 दिसंबर 2012: निर्भया को इलाज के लिए सिंगापुर भेजा गया
  7. 29 दिसंबर 2012: निर्भया की सिंगापुर में मौत
  8. 3 जनवरी 2013:  फास्ट ट्रैक कोर्ट में पांच आरोपियों के ख़िलाफ़ चार्जशीट
  9. 28 फरवरी 2013: जुवेनाइल जस्टिस बोर्ड में नाबालिग पर आरोप तय
  10. 11 मार्च 2013: मुख्य आरोपी राम सिंह ने ख़ुदकुशी की
  11. 31 अगस्त 2013: नाबालिग़ आरोपी दोषी क़रार दिया गया
  12. 10 सितंबर 2013: चारों आरोपी दोषी क़रार दिए गए
  13. 13 सितंबर 2013: चारों आरोपियों को फांसी की सज़ा
  14. 7 अक्टूबर 2013: चारों आरोपियों ने दिल्ली हाइकोर्ट में की अपील
  15. 13 मार्च 2014: हाइकोर्ट ने मौत की सज़ा बरक़रार रखी
  16. 15 मार्च 2014: चारों ने सुप्रीम कोर्ट में अपील की... 
  17. 20 दिसंबर 2015: नाबालिग तीन साल बाद बाहर
  18. 27 मार्च 2017: सुप्रीम कोर्ट ने फ़ैसला सुरक्षित रखा

 

नई दिल्ली | दिल्ली की ऐतिहासिक इमारत लाल किले के एक कुएं में गुरुवार शाम को ग्रेनेड बरामद हुआ, जिसके बाद वहां हड़कंप मच गया । उसे शुक्रवार सुबह वहां से सुरक्षित हटा दिया गया। पुलिस के अनुसार, बम गुरुवार शाम लाल किले के अंदर काम कर रहे मजदूरों को मिला, जो इस मुगलकालीन स्मारक के सावन-भादो बगीचे की सफाई कर रहे थे।

लाल किले की सुरक्षा की जिम्मेदारी केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) के पास है।

इसी साल 6 फरवरी को लाल किले में पुरातत्व विभाग को सफाई के दौरान भारी संख्या में कारतूस और विस्फोटक सामग्री मिली थी. सूचना मिलते ही भारतीय सेना, एनएसजी, दमकल विभाग और बम निरोधक दस्ता मौके पर पहुंच गया था. जांच में पता चला कि बरामद कारतूस और विस्फोटक बेकार हो चुके हैं.

बरामद कारतूस और विस्फोटकों को ऐसी जगह पर रखा गया था, जहां पर कोई आता-जाता नहीं है. मानो किसी ने जान-बूझकर इन्हें यहां छुपाकर रखा हो. वहीं माना जा रहा है कि जिस समय भारतीय सेना यहां रहा करती थी, हो सकता है कि उसी समय यह कारतूस और विस्फोटक यहां छूट गए हो.

श्रीनगर. जम्मू-कश्मीर में आतंकी हमलों के बाद सिक्युरिटी फोर्सेस एक्टिव हो गई हैं। साउथ कश्मीर खासकर शोपियां-पुलवामा के 20 से ज्यादा गांवों में सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा है। इन गांवों में आतंकियों के छिपे होने का शक है। ऑपरेशन में 3-4 हजार जवान शामिल हैं। सर्चिंग, गुरुवार को सुबह 4 बजे शुरू हुई। हालांकि, लोगों ने ऑपरेशन के दौरान फोर्सेस पर पथराव भी किया। बता दें कि 1 मई को पुंछ के कृष्णा घाटी सेक्टर में पाक ने सीजफायर वॉयलेशन किया। इसके बाद आतंकियों के साथ मिलकर पाक आर्मी ने LoC पार कर 2 शहीदों के सिर काट लिए। सोमवार को ही आतंकियों के एक कैश वैन पर किए हमले में 5 पुलिस जवान शहीद हो गए, 2 बैंक अफसरों की भी मौत हो गई थी।
घाटी में पिछले 72 घंटे में चार घटना घटी है। मंगलवार को आतंकियों ने पुलिसकर्मियों से चार इंसास राइफल और एक AK-47 राइफल लूटकर भाग गए थे। ये सुरक्षाकर्मी शोपियां में कोर्ट परिसर में तैनात थे।
बुधवार को आतंकियों ने दो बैंकों को लूटा था। पुलिस ने बताया था कि प्राथमिक जांच में लूट की वारदात में आतंकी संगठन लश्कर-ए-तोएबा के हाथ होने की बात सामने आई है।

प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी ने हरिद्वार में पतंजलि योगपीठ रिसर्च सेंटर का उदघाटन किया | मोदी ने लोगों को संबोधित करते हुए योग व आयुर्वेद से संबंधित कई बाते की। रामदेव बाबा की सेवाओं की जमकर तारीफ करते हुए उन्होंने कहा कि योग के क्षेत्र में बाबा रामदेव ने आंदोलन ला दिया है। योग करने के लिए किसी पहाड़ की गुफा पर जाने की जरूरत नहीं बल्कि घर के किचन के बगल में भी आप योग कर सकते हैं यह रामदेव बाबा ने सिखाया है।
अपने संबोधन में उन्होंने कहा, “मेरा सौभाग्य था कि बाबा केदारनाथ के दर्शन करने के बाद आप सब के बीच आने का मौका मिला। मुझे पता नहीं था बाबा ने सरप्राइज दे दिया। बड़ी भावुकता के साथ मुझे विशेष सम्मान से सम्मानित किया। मैं स्वामी जी का इस पतंजलि के पूरे परिवार का आभार व्यक्त करता हूं। लेकिन जिन लोगों के बीच मेरा लालान-पालन हुआ है, जिन लोगों ने मुझे संस्कार दिया है उसे में इस बात को भलिभांती जानता हूं कि जब आपको सम्मान मिलता है उसका मतलब होता है आपसे ये ये प्रकार की अपेक्षा है। मुझे क्या करना चाहिए और क्या नहीं इसका बड़ा द्सतावेज किताब के रूप में मुझे सौंप दिया है। आप पर भरोसा है, इसलिए आर्शीवाद ऊर्जा का स्त्रोत है। यहां मैं पहली बार नहीं आया हूं, आपके बीच बार-बार आपके बीच आने सौभाग्य मिला है। रामदेव बाबा को करीब से उभरते देखा है। आज मुझे रिसर्च सेंटर के उद्घाटन का सौभाग्य मिला। हमारे देश का भूतकाल की तरफ देखें तो एक बार समझ आती है कि हम इतने पहुंचे और छाए हुए थे कि जब दुनिया ने इसे देखा तो उन्हें वहां तक पहुंचाना संभव नहीं लगता था। इसके बाद उन्होंने सोचा उसे खत्म करने का। आजादी के बाद जो बचा था उसे पनपाते उसे पुरस्कत करते और आजाद भारत की सांस के बीच उसे विश्व के बीच प्रस्तुत करते। लेकिन वो नहीं हुआ, आजादी के बाद लम्बा कालखंड ऐसा गया जिसमें इस श्रेष्ठताओं का भूलाने का प्रयास किया गया।”

Page 5 of 15

Contact Us

For General Enquiry
  •  : info@a1tv.tv
  •  : 0141 - 4515121, 4515151
For Advertising
  • : advt@a1tv.tv,      a1tv.advt@gmail.com
  •  : +91- 98280-11251, 98280-10551
  •  : +91- 98280-10551