SJ Financial II - шаблон joomla Форекс

wrapper

Breaking News

देश-विदेश

देश-विदेश (125)

नई दिल्ली। भारतीय वायुसेना के प्रमुख एयरचीफ मार्शल बीएस धनोआ ने अपने सभी 12,000 अधिकारियों को पत्र लिखकर उनसे बेहद शॉर्ट नोटिस पर किसी भी अभियान के लिए तैयार रहने को कहा है। खबर के मुताबिक, वायुसेना प्रमुख ने इस पत्र में वायु सेना के पास संसाधनों की कमी की तरफ भी इशारा किया है। यह भी पढ़ें- थल सेना का 30 साल का इंतजार खत्म, मिली एम-777 होवित्जर तोपें मुताबिक, धनोआ ने वायुसेना प्रमुख का पद संभालने के महज तीन महीने बाद 30 मार्च को लिखा गया यह पत्र सभी अधिकारियों को भेजा गया है। अपनी तरह की इस अभूतपूर्व चिट्ठी में धनोआ ने वायुसेना के भीतर 'पक्षपात' और 'यौन शोषण' के बढ़ते मामलों का भी ज़िक्र किया है। रिपोर्ट में बताया गया है कि इससे पहले 1 मई, 1950 को तत्कालीन थलसेना प्रमुख केएम करिअप्पा और 1 फरवरी, 1986 को सेना प्रमुख जलसेना के। सुंदरजी ने ऐसी चिट्ठी लिखी थी। मगर वायुसेना प्रमुख द्वारा अधिकारियों को इस तरह पत्र लिखने का यह पहला मौका है। वायुसेना प्रमुख धनोआ ने अपने पत्र में अफसरों से कहा कि मौजूदा हालात में, हमेशा से जारी खतरे की आशंका बढ़ गई है इसलिए हमें मौजूदा संसाधनों के साथ ही बेहद शॉर्ट नोटिस पर बड़े अभियान के लिए तैयार रहने की ज़रूरत है।' इसके साथ ही इसमें उन्होंने लिखा है कि हमारा ट्रेनिंग प्रोग्राम इसे ही ध्यान में रखकर चलाया जाना चाहिए।'
ऐसा समझा जा रहा है कि धनुआ ने संभवत: पाकिस्तान की तरफ से जारी छद्म युद्ध की ओर इशारा किया है, जो कि जम्मू कश्मीर में जारी विरोध प्रदर्शनों और सैन्य कैंपों पर हमले की बढ़ी वारदातों में देखा जा सकता है। इसके अलावा यह भी माना रहा है कि धनोआ ने 'मौजूदा संसाधनों' का जिक्र वायुसेना में 'लड़ाकू बेड़े' की कमी की तरफ ध्यान दिलाने के लिए किया है। प्राप्त जानकारी के मुताबिक़ , वायुसेना अपने पास लड़ाकू विमानों की 42 स्क्वाड्रन रखने के लिए अधिकृत है, जबकि उसके पास अभी बस 33 स्क्वाड्रन ही हैं। वायुसेना प्रमुख धनोआ ने इसके साथ ही 'पिछले कुछ मौकों पर वायुसेना द्वारा प्रदर्शित ग़ैर-पेशेवर रुख़' की तरफ भी ध्याना दिलाया है और कहा कि ऐसे चीज़ों ने वायुसेना की छवि पर दाग लगाया है। धनोआ ने कहा कि कुछ बड़ी जिम्मेदारियों और पद्दोन्नती के लिए अधिकारियों के चयन में हमें 'पक्षपात' की कुछ शिकायतें देखने को मिली हैं। यह कुछ ऐसी चीज़ें हैं, जिसे हम सहन नहीं कर सकते।उन्होंने आगे लिखा कि वरिष्ठ अधिकारियों के निंदनीय व्यवहार, शारीरिक प्रताड़ना और यौन शोषण जैसे कृत्यों को भी स्वीकार नहीं किया जा सकता। अखबार के मुताबिक, उसने वायुसेना के प्रवक्ता से जब इस पत्र के सिलसिले में प्रतिक्रिया लेने की कोशिश की, तो उन्होंने इसे 'आंतरिक मामला' बताते हुए कोई भी टिप्पणी करने से इनकार कर दिया।

 

पाकिस्‍तान में मौत की सजा पाए इंडियन नेवी के रिटायर्ड ऑफिसर कुलभूषण जाधव पर इंटरेनशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस (आईसीजे) ने फैसला सुनाना शुरू किया।
क्‍या कहा है कोर्ट ने
जज रॉनी अब्राहम ने कहा है कि जिन हालातों में गिरफ्तारी हुई है वे काफी विवादित हैं। भारत की ओर से बार-बार काउंसलर की मांग दोहराई गई थी। जज अब्राहम का कहना है कि भारत और पाकिस्‍तान दोनों ही विएना संधि को मानते हैं और भारत की काउंसलर मुहैया कराने की मांग को मान लेना चाहिए था। जज अब्राहम ने पाकिस्‍तान के विरोध को पूरी तरह से खारिज कर दिया है। जज अब्राहम ने पाकिस्‍तान को साफ-साफ कह दिया है कि अंतिम फैसले से पहले जाधव को फांसी की सजा नहीं होनी चाहिए। पाकिस्‍तान को आईसीजे के न्‍यायिक क्षेत्र के बारे कोई संदेह नहीं होना चाहिए।
किसी भी सूरत में न हो फांसी
जज रॉनी अब्राहम ने कहा कि अभी इस बात के सुबूत नहीं हैं कि जाधव वाकई जासूस है। साथ ही जज ने पाकिस्‍तान को आदेश दिया है कि जाधव को फांसी नहीं होनी चाहिए। कोर्ट को इस बात की जांच करनी होगी कि क्‍या वाकई जाधव पर खतरा है। जाधव का सजा पर रोक लगाते हुए जज अब्राहम ने कहा कि भारत के पास काउंसलर की मांग का पूरा अधिकार है।

नई दिल्ली. 150 देश रैंजमवेयर साइबर अटैक की चपेट में हैं जिसके चलते देश के कई एटीएम बंद कर दिए गए हैं. जहां देशों के बैंक, अस्पताल इससे प्रभावित हुए हैं वहीं आंध्र प्रदेश में स्थित तिरुमाला तिरुपति मंदिर भी इससे अछूता नहीं रहा. मंदिर प्रांगण में मौजूद कम्प्यूटर्स पर WannaCry रैंजमवेयर साइबर अटैक किया गया है. एक न्यूज चैनल के मुताबिक, मंदिर के कार्यालयीन काम में लाए जाने वाले 10 कम्प्यूटर साइबर अटैक की चपेट में हैं. अधिकारियों ने एहतियात बरतते हुए 20 अन्य कम्प्यूटरों के उपयोग को बंद कर दिया है.

तिरुपति मंदिर के नए एक्जक्यूटिव ऑफिसर अनिल कुमार सिंघल ने यह घोषणा की कि हमारे कुछ कम्प्यूटरों पर प्रभाव पड़ा है. हालांकि सभी कम्पयूटर कार्यालयीन उपयोग में काम लाए जाते थे जिन कम्प्यूटरों का उपयोग टिकट बेचने और श्रद्धालुओं की सेवा के काम में किया जाता हैं वो रैंजमवेयर अटैक से दूर हैं. ऑफिसर का कहना है कि श्रद्धालुओं की सेवा में कोई बाधा नहीं आई है. मंदिर का IT डिपार्टमेंट टाटा कंसलटेंसी सर्विस (TCS) के साथ मिलकर मौजूदा हालात पर काम कर रहा है. अधिकारियों ने इस बात की पुष्टि की है कि प्रभावित कम्प्यूटर पुराने ऑपरेटिंग सिस्टम पर काम करते थे.

जम्मू। भारतीय सेना की ओर से करार जवाब मिलने के बावजूद पाकिस्तान है कि सुधरने का नाम नहीं ले रहा है। शनिवार(13-05-17) की सुबह पहले पाकिस्तान ने श्रीनगर के रिहायशी इलाकों को निशाना बनाकर बम दागे गए फिर त्राल में सेना के काफिले पर हमला किया गया। मिल रही जानकारी के मुताबिक त्राल में आतंकियों ने भारतीय सेना के काफिले पर फायरिंग की गई, हालांकि इसमें अभी तक किसी के घायल होने की सूचना नहीं मिली है।


इलाके को घेरा

त्राल में सेना के काफिले पर हुए हमले के बाद प्रशासन की ओर से एहतियात बरतने के लिए इलाको को घेर लिया गया है और आतंकियों की तलाश जारी है।

भारत समेत दुनिया भर के 100 देशों में इतिहास का सबसे बड़ा साइबर हमला हुआ है। जिसकी शुरुआत शुक्रवार को यूके की नेशनल हेल्थ सर्विस से हुई और उसके बाद अमेरिकी अंतरराष्‍ट्रीय कूरियर सर्विस फेडेक्स (FedEx) के सिस्टम को लॉक कर दिया है इसके बाद कई देशों में अस्पतालों, बड़ी कंपनियों और सरकारी दफ्तरों की वेबसाइट्स पर हमला हुआ। हैकर्स ने सबसे तगड़ा झटका रूस को दिया है।

साइबर विशेषज्ञों के अनुसार, 'मालवेयर कंप्‍यूटर वायरस 'रैंसमवेयर' की चपेट में आकर कंप्‍यूटर प्रभावित हो रहे हैं। ये वायरस स्‍पैम ईमेल के जरिये जॉब ऑफर, इनवायसस, सेक्‍योरिटी वार्निंग्‍स और अन्‍य सम्बंधित फाइल्‍स की शक्‍ल में पहुंच रहा है।' इसे रैनसमवेयर हमला कहा जा रहा है। यह ऐसा वायरस है जिससे डाटा लॉक हो जाता है। उसे अनलॉक करने के लिए हैकर्स बिटकॉइंस या डॉलर्स में रकम मांगते हैं। वेबसाइट फिर से चालू करने के लिया 300-600 डॉलर तक की फिरौती माँगी जा रही है।

इस घटना के बाद से दो बाते समझना बहुत मुश्किल हो गया हैं "भारत में कितनी कंपनियां या सरकारी दफ्तरों पर इसका असर पड़ा है? और महज 300 डॉलर या बिटकॉइंस के लिए इतना बड़ा साइबर हमला क्यों हुआ?"

इस साइबर हमले के बाद कंप्यूटरों ने काम करना बंद कर दिया है। प्रभावित संगठनों ने कंप्यूटर्स के लॉक होने और बिटकॉइन की मांग करने वाले स्क्रीनशॉट्स साझा किए हैं। ब्रिटेन, अमेरिका, चीन, रूस, स्पेन, इटली, वियतनाम समेत कई अन्य देशों में रेनसमवेयर साइबर हमलों की ख़बर है। साइबर सुरक्षा शोधकर्ता के मुताबिक़ बिटकॉइन मांगने के 36 हज़ार मामलों का पता चला है। ये वानाक्राइ या इससे मिलते-जुलते नाम से किए गए हैं। उन्होंने कहा, "ये बहुत बड़ा है।"

भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कोलंबो में बौद्ध धर्म के एक कार्यक्रम में लोगों को संबोधित कर रहे थे. वह बौद्ध धर्म के सबसे बड़े पर्व इंटरनेशनल बैसाख डे में शामिल होने के लिए यहां पहुंचे हैं. श्रीलंका में बौद्ध महोत्सव में पीएम मोदी मुख्य अतिथि हैं. पीएम मोदी ने कहा कि भारत से बौद्ध धर्म श्रीलंका पहुंचा है. श्रीलंका से भारत का पुराना रिश्ता है. पीएम ने वाराणसी और कोलंबो के बीच सीधी विमान सेवा शुरू करने का एलान भी किया. पीएम ने कहा कि बुद्ध की धरती से सवा करोड़ लोगों की शुभकामनाएं लेकर आया हूं.

उन्होंने कहा, “मैं सम्यकसमबुद्ध, पूर्ण चैतन्य, की भूमि से अपने साथ 1.25 अरब लोगों की शुभकामनाएं लेकर आया हूं. हमारा क्षेत्र सौभाग्यशाली है कि उसने दुनिया को बुद्ध और उनके उपदेश जैसे अमूल्य उपहार दिये.” बैसाख दिवस भगवान बुद्ध के जन्म, उन्हें बुद्धत्व की प्राप्ति तथा उनके महापरिनिर्वाण के संदर्भ में मनाया जाता है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शुक्रवार को यहां 14वें अंतर्राष्ट्रीय वेसाक दिवस समारोह में हिस्सा लिया. प्रधानमंत्री मोदी शुक्रवार सुबह समारोह स्थल पहुंचे, जहां उनके श्रीलंकाई समकक्ष रानिल विक्रमसिंघे ने पारंपरिक तरीके से उनकी अगवानी की.

श्रीलंका के राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरिसेना भी मौजूद थे. बता दें कि दो साल में मोदी की श्रीलंका के लिए यह दूसरी यात्रा है. उनका यह दौरा श्रीलंका के राष्ट्रपति सिरिसेना के निमंत्रण पर हो रहा है. यह मार्च 2015 के बाद प्रधानमंत्री के रूप में मोदी का दूसरा श्रीलंका दौरा है. यह पहली बार है, जब श्रीलंका अंतर्राष्ट्रीय वेसक दिवस की मेजबानी कर रहा है. इसे संयुक्त राष्ट्र से मान्यता प्राप्त है. इस समारोह का थीम ‘समाज कल्याण और विश्व शांति के लिए बुद्ध के संदेश’ है.

भारतीय वैज्ञानिकों के कौशल और प्रौद्योगिकी विकास के प्रतीक के तौर पर 1999 से हर साल 11 मई को राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस मनाया जाता है। 11 मई का चुनाव स्वाभाविक है क्योंकि इसी दिन 1998 में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के नेतृत्व में भारत ने पोखरण में पांच परमाणु परीक्षणों में से पहले को सफलतापूर्वकर अंजाम दिया था। इन परीक्षणों ने पूरे विश्व को भारत की ताकत से परिचित कराया।

पोखरण परीक्षण में भारतीय वैज्ञानिकों के शानदार योगदान को याद करते हुए नरेंद्र मोदी कहते हैं, "दुनिया पोखरण परीक्षण से बहुत अच्छी तरह से अवगत है। अटलजी के नेतृत्व में सफलतापूर्वक ये परीक्षण हुए और पूरी दुनिया भारत के ताकत की गवाह बनी। वैज्ञानिकों ने देश को गौरवान्वित किया।"

मोदी इस घटना को याद करते हुए आगे कहते हैं, "परीक्षणों की पहली सीरीज के बाद विश्व समुदाय ने भारत पर प्रतिबंध लगा दिये। 13 मई, 1998 को अटलजी ने फिर परीक्षणों के लिए कहा। इस तरह यह दिखलाया कि वे किसी और चीज से बने हैं। अगर हमारे पास कमजोर प्रधानमंत्री होते तो वह उसी दिन डर गये होते। लेकिन अटलजी अलग थे। वे डरे नहीं।"

परमाणु परीक्षणों के दौरान चुप्पी बनाए रखने पर पोखरण के लोगों की भूमिका की सराहना करते हुए श्री मोदी कहते हैं, "पोखरण के लोगों की निश्चित रूप से सराहना करनी होगी, जिन्होंने परीक्षण की योजना से लेकर उस पर अमल करने तक चुप्पी बनाए रखी। उन्होंने देश हित को बाकी सभी चीजों से ऊपर रखा।"

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को दिल्ली में सुप्रीम कोर्ट के एक कार्यक्रम में हिस्सा लिया. इस दौरान पीएम ने न्यू इंडिया का रोडमैप पेश किया. पीएम मोदी ने इस दौरान कहा कि अब पूरा विश्व बदल रहा है, अगर हम इसके साथ नहीं चलेंगे तो हमें पूछने वाला कोई नहीं होगा. मोदी ने अपने भाषण में कहा कि आज के समय में टेक्नालॉजी का काफी महत्व है. देश में जल्द ही ऑनलाइन याचिका डालने की प्रक्रिया भी शुरू होगी.

पीएम ने अपने भाषण के दौरान देश को एक नया मंत्र दिया. मोदी ने न्यू इंडिया के लिए IT+IT= IT का मंत्र दिया और इसका मतलब भी समझाया. मोदी ने बताया कि IT+IT= IT का मतलब इंडियन टेक्नोलाजी + इंडियन टैलेंट = इंडियन टुमारो. ये पहली बार नहीं है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को कोई मंत्र दिया हो. इससे पहले भी कई बार पीएम मोदी के कई नारे फेमस हो चुके हैं, मोदी कई नई परिभाषा भी गढ़ चुके हैं.

1. विकास - विकास की नई परिभाषा देते हुए मोदी ने कहा था कि 'जब मैं विकास बोलता हूं तो उसका मतलब होता है वि से विद्युत , क से क़ानून व्यवस्था और स से सड़क'

2. P2G2 - प्रधानमंत्री ने अपनी पार्टी को P2G2 (Pro People Pro Active Good Governance) यानी जन कल्याण और सुशासन का मंत्र दिया हुआ है.

3. 3D फॉर्मूला - पीएम मोदी ने अटल बिहारी वाजपेयी की बात का उदाहरण देते हुए डीबेट(Debate), डेलीब्रेशन (Deliberation) और डिस्कशन(Discussion) का नारा पेश किया था.

4. 'पर ड्रॉप मोर क्रॉप' - मोदी ने कृषि मेले के दौरान नया फॉर्मूला दिया था. पीएम ने 'पर ड्रॉप मोर क्रॉप' सिंद्धांत का ज़िक्र करते हुए कहा कि इस से पानी का सही इस्तेमाल होगा और किसानों को ज्यादा पैदावार मिलेगी.

5. SCAM की नई परिभाषा - उत्तर प्रदेश के चुनाव के दौरान मोदी ने SCAM शब्द की नई परिभाषा बताई थी. मोदी ने बताया था कि एस से समाजवादी, सी से कांग्रेस, ए से अखिलेश, एम से मायावती.

6. सबका साथ- सबका विकास - इन सभी नारों के अलावा सबका साथ-सबका विकास ही एक ऐसा नारा है जिसका जिक्र मोदी अपने हर भाषण में करते हैं. मोदी सरकार इस नारे को अपना मंत्र बताती है.

श्रीनगर। जम्मू एवं कश्मीर के शोपियां जिले में बुधवार सुबह एक सैन्य अधिकारी का गोलियों से छलनी शव मिला है। शव की पहचान सैन्य लेफ्टिनेंट उमर फयाज के रूप में की गई है। एक पुलिस अधिकारी ने बताया, “आतंकवादियों ने अधिकारी को मंगलवार शाम कुलगाम जिले से अगवा कर लिया था, जहां वह एक पारिवारिक समारोह में शामिल होने गए थे।“ राज्य पुलिस ने अपने कर्मियों को सलाह जारी कर कहा है कि वे तब तक अपने पैतृक घरों में खासतौर पर दक्षिण कश्मीर में न जाएं जब तक कि इसे वापस नहीं ले लिया जाता। दक्षिण कश्मीर के पुलवामा, शोपियां, अनंतनाग और कुलगाम जिलों सहित अधिकांश जिलों में आतंकवादी गतिविधियां बढ़ गई हैं।

Page 4 of 14

Contact Us

For General Enquiry
  •  : info@a1tv.tv
  •  : 0141 - 4515121, 4515151
For Advertising
  • : advt@a1tv.tv,      a1tv.advt@gmail.com
  •  : +91- 98280-11251, 98280-10551
  •  : +91- 98280-10551