SJ Financial II - шаблон joomla Форекс

wrapper

Breaking News

राजनीति

राजनीति (104)

रायबरेली से लखनऊ आ रही गैंगरेप पीड़िता पर ट्रेन में एसिड अटैक किया गया, जिसके बाद उसे लखनऊ के केजीएमयू अस्पताल में भर्ती कराया गया है। प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार सुबह अस्पताल का दौरा किया और पीड़िता से मुलाकात की।

सीएम आदित्यनाथ और कैबिनेट मंत्री रीता बहुगुणा जोशी केजीएमयू के गांधी वार्ड पहुंचे। गैंगरेप पीड़िता का हाल पूछने के बाद सीएम ने एक लाख रुपये की आर्थिक मदद भी की। आदित्यनाथ ने पीड़िता का मुफ्त में इलाज कराने के साथ-साथ पूरे परिवार को सुरक्षा दिए जाने का आदेश दिया। सीएम तकरीबन दस मिनट तक गांधी वार्ड में रुके।

गैंगरेप पीडि़ता पर हुए एसिड अटैक मामले में पुलिस जांच के आदेश दे दिए गए हैं | बता दें कि मुख्यमंत्री बनने के बाद योगी आदित्यनाथ पूरे एक्शन में हैं। वे आज लखनऊ के केजीएमयू अस्पताल में सुविधाओं का जायजा लेने पहुंचे थे। वहीं, इससे पहले वे गुरुवार को हजरतगंज थाने भी गए थे।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के नए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने बतौर सीएम पहले दिन की शुरुआत की है। आदित्यनाथ ने मायावती की पार्टी बीएसपी के नेता की हत्या पर राज्य पुलिस प्रमुख से बात की। 44 साल के आदित्यनाथ ने रविवार को यूपी के सीएम पद की शपथ ली थी। आदित्यनाथ के साथ दो डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य और दिनेश शर्मा ने भी पद और गोपनीयता की शपथ ली। आदित्यनाथ ने शपथ ग्रहण के बाद कहा था कि उनकी सरकार बिना किसी भेदभाव के सभी के लिए काम करेगी।

 


-भ्रष्टाचार के खिलाफ उठाए गए अपने पहले कदम में, उन्होंने सभी मंत्रियों से 15 दिन के भीतर संपत्तियों का ब्यौरा देने को कहा।
-मंत्रियों को यह भी हिदायत दी गई है कि वह मीडिया से बातचीत न करें। यूपी सरकार में मंत्री श्रीकांत शर्मा और सिद्धार्थ नाथ सिंह ही यूपी सरकार के औपचारिक प्रवक्ता रहेंगे।
-राज्य में बीजेपी के ये दो वरिष्ठ विधायक बाकी विधायकों की ट्रेनिंग प्रक्रिया के भी इंचार्ज होंगे। 403 सदस्यीय विधानसभा में बीजेपी ने 312 सीटें जीती हैं और उसके कई विधायक पहली बार चुनकर आए हैं।
-मुख्यमंत्री के रूप में चयनित होने के बाद ही आदित्यनाथ ने डीजीपी जावीद अहमद से मुलाकात कर नई सरकार के शपथ ग्रहण समारोह में किसी प्रकार से कानून व्यवस्था न बिगड़ने देने को कहा था। अंदेशा था कि योगी समर्थक शपथ ग्रहण में कानून व्यवस्था के लिए खतरा बन सकते हैं।

मनोज सिन्हा का यूपी सीएम बनना लगभग तय माना जा रहा है. लेकिन इसी बीच मुख्यमंत्री पद के दो दावेदारों के समर्थकों ने हंगामा मचाना शुरू कर दिया है. लखनऊ में योगी आदित्यनाथ के समर्थक उनको सीएम बनाने की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं. इस बीच योगी आदित्यनाथ को अमित शाह ने दिल्ली बुलाया है.
बीजेपी के प्रदेशाध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य भी मुख्यमंत्री पद के प्रबल दावेदार है. उनके समर्थक भी लखनऊ में प्रदर्शन कर रहे हैं. मौर्य के बारे में अमित शाह ने कहा था कि ‘मौर्य ये तय करेंगे कि यूपी का मुख्यमंत्री कौन होगा?.’ अमित शाह की इस बात से पहले ही साफ हो चुका है कि मौर्य मुख्यमंत्री पद की दावेदारी में पिछड़ चुके हैं.
इसी बीच प्रदेश की सीएम रेस में सबसे आगे चल रहे मनोज सिन्हा ने बयान देकर खुद को रेस से बाहर करार दिया है. उन्होंने कहा कि पार्टी का संसदीय बोर्ड और विधायक दल सीएम का फैसला करेगा. मीडिया गैरजरूरती अंदाजा लगा रहा है.
रविवार शाम को होगा शपथ ग्रहण समारोह
बीजेपी की तरफ से यह पहले ही ऐलान किया जा चुका है कि रविवार को यूपी के मुख्यमंत्री और उनके मंत्रियों का शपथ ग्रहण समारोह होगा.
शपथ ग्रहण समारोह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह भी शामिल होंगे. आज शनिवार को लखनऊ में पार्टी विधायकों की मीटिंग होनी है. इस मीटिंग के समापन के बाद मनोज सिन्हा के नाम का आधिकारिक रूप से ऐलान किया जा सकता है

नई  दिल्ली : दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर पंजाब चुनाव के नतीजों पर सवाल उठाए हैं. उन्होंने आरोप लगाया कि कहीं पंजाब में ईवीएम के जरिए आम आदमी पार्टी के वोट बीजेपी-अकाली गठबंधन के खाते में तो नहीं चला गया.जिसका फायदा कांग्रेस को हुआ और वो चुनाव जीत गई.

मालवा में आम आदमी पार्टी को पड़े वोट पर उन्होंने कहा कि पार्टी के कार्यककर्ताओं का कहना है कि उन्होंने AAP को वोट दिया लेकिन नतीजों में उनके वोट भी अन्य दलों के खाते में चले गए. उन्होंने सवाल उठाया कि कहीं ईवीएम के जरिए कहीं आम आदमी पार्टी का 25 फीसदी वोट अकाली और भाजपा को तो ट्रांसफर तो नहीं कर दिया गया.

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि उत्तर प्रदेश के चुनावों से भी ईवीएम की फंक्शनिंग पर सवाल उठ रहे हैं. कुछ न कुछ तो गड़बड़ है. इलेक्शन कमीशन की साख पर भी सवाल है. ऐसे में लोकतंत्र ही खतरे में पड़ जाएगा. लोगों का चुनावी व्यवस्था में विश्वास डिगना खतरनाक साबित होगा. ईवीएम और उससे निकलने वाली पर्चियों (VVPAT) का मैच होना लोगों का भरोसा बढ़ाएगा.

केजरीवाल ने कहा कि मेरे सवाल उठाने के बाद मीडिया मेरा मजाक उड़ा सकता है लेकिन ऐसी बातें सुप्रीम कोर्ट ने भी कही हैं. दुनिया के कई विकसित देशों से ईवीएम बैन किए जा रहे हैं ऐसे में उनपर सवाल उठने लाजमी हैं. बीजेपी ने भी सत्ता में न रहने पर इनका विरोध जताया और अब उनके लिए सब कुछ सही हो गया. लाल कृष्ण आडवाणी और सुब्रमण्यम जैसे भाजपा नेताओं ने इस पर सवाल उठाया है

लखनऊ. यूपी चुनाव 2017 के नतीजो के रुझान के अनुसार, बीजेपी प्रदेश में रिकॉर्ड सीटों के साथ सरकार बना रही है। शुरुआती रुझानों में पार्टी 300 प्लस सीटों के साथ पहले नंबर पर है। माना जा रहा है कि 2014 लोकसभा चुनाव की तरह इस बार भी यूपी में मोदी फैक्टर काम कर गया। वहीं, अखि‍लेश-राहुल का साथ जनता को कुछ पसंद नहीं आया। आइये देखते है इस से पहले कब और किस सरकार के बन चुके है रिकॉर्ड

1 ) साल - 1951
कुल सीट -425
रिकॉर्ड- 388 (कांग्रेस)
मुख्यमंत्री - गोविन्द वल्लभपंत

2) साल- 1977
कुल सीट -425
रिकॉर्ड- 352 (जनता पार्टी )
मुख्यमंत्री - राम नरेश यादव

3) साल- 1980
कुल सीट -425
रिकॉर्ड- 380 (कांग्रेस)
मुख्यमंत्री - श्रीपत मिश्र

4) साल- 1991
कुल सीट -425
रिकॉर्ड- 221 (बीजेपी)
मुख्यमंत्री - कल्याण सिंह

5) साल- 2007
कुल सीट -403
रिकॉर्ड- 206 (बसपा )
मुख्यमंत्री - मायावती

6) साल- 2012
कुल सीट -403
रिकॉर्ड- 224 (सपा )
मुख्यमंत्री - अखिलेश यादव

अब देखना ये है की बीजेपी सरकार कुल कितनी सीट के साथ विजय पताका फहराती है

नई दिल्ली। राजनाथ सिंह ने आज संसद में लखनऊ एनकाउंटर और एमपी ट्रेन ब्लास्ट पर बयान दिया. उन्होंने बताया कि इस पूरे मामले की जांच एनआईए करेगी. वहीं उन्होंने लखनऊ में मारे गए सैफुल्लाह के पिता के बयान का हवाला देते हुए उन्होंने कहा कि देश को उन पर नाज है. आपको बता दें कि सैफुल्लाह के पिता सरताज ने अपने बेटे की लाश लेने से इनकार कर दिया . उन्होंने कहा कि जो देश का नहीं हुआ वो मेरा क्या होगा. उसने कोई सही काम तो किया नहीं. मुझे उसका मुंह नहीं देखना. सैफुल्ला ने मुझे शर्मिदा कर दिया. हर किसी के लिए देश पहले है, लेकिन सैफुल्ला के लिए नहीं. जो देश का नहीं, वह मेरा क्या होगा.आज पूरा सदन सैफुल्ला के पिता के साथ खड़ा है. राजनाथ सिंह ने कहा मैं और पूरा सदन सैफुल्ला के पिता के प्रति सहानुभूति व्यक्त करता हूं. बेटे की देशद्रोही हरकतों की उन्हें अपने बेटे को खाना पड़ा. सरकार और पूरे सदन को मोहम्मद सरताज पर नाज है.


उन्होंने कहा कि, लखनऊ एनकाउंटर में सुरक्षाकर्मियों के समक्ष सरेंडर करने से इनकार किया उसके खिलाफ जो भी कार्रवाई हुई वह पूरी तरह से सबूत व सूचना के आधार पर की गई। सैफुल्लाह के कमरे से 8 पिस्टल, 2 वॉकी-टॉकी, विदेशी मुद्रा बरामद हुई है। गृहमंत्री ने बताया कि भोपाल-उज्जैन पैसेंजर ट्रेन धमाके के संबंध में 3 संदिग्धों को गिरफ्तार किया गया है। कानपुर से भी एक संदिग्ध को गिरफ्तार किया गया। इस मामले में अब तक कुल 6 गिरफ्तारियां हुई हैं। वहीं, अमेरिका में भारतीयों पर हो रहे हमलों पर कहा कि इस पूरे मामले को भारत सरकार ने गंभीरता से लिया है और इस मसले पर भारत सरकार की तरफ से लोकसभा में अगले हफ्ते बयान दिया जाएगा।

रोहनिया। उत्तर प्रदेश का बनारस आज कुरूक्षेत्र का मैदान बना हुआ है। आज जहां पीएम मोदी और राहुल-अखिलेश यादव ने वारणसी में रोड शो किया तो वहीं मायावती ने  भी रोहनिया में जनसभा को

संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने पीएम के रोड शो को लेकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि रोड शो में आई भीड़ बाहर से बुलाई गई थी। जो चुनाव में वोट नहीं करेंगे।यह भीड़ ज्यादातर उन जिलों से

बुलाई गई, जहां चुनाव हो चुके हैं। मायावती ने कहा कि रोड शो से केवल माहौल बनाया गया है। लेकिन वोट स्थानीय लोग देते हैं, जो हमारी रैली में मौजूद हैं। उन्होंने कहा कि सपा-बीजेपी के जो लोग

सड़कें नापने की कोशिश कर रहे हैं, वह इनकी दयनीय स्थिति को दिखाता है।इससे पहले पीएम नरेंद्र मोदी ने वाराणसी में रोड शो किया| 

आइये देखते है क्या थी मोदी के रोड शो की कुछ ख़ास बाते |

बनारस में पीएम मोदी के रोड शो की ये 10 खास बातें –

  • पीएम मोदी के रोड शो का कारवां खुली जीप में बीएचयू से शुरू हुआ। पूरे रोड शो में  लगातार गेंदे के फूल की बारिश हुई।
  • पीएम मोदी ने वाराणसी में पंडित मदन मोहन मालवीय की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया।
  • रोड शो के बाद पीएम मोदी ने श्री काशी विश्वनाथ और काल भैरव मंदिर के दर्शन किए।
  • पीएम मोदी के रोड शो में सपा कार्यकर्ताओं ने लहराए झंडे।
  • कांग्रेस ने साधा निशाना, राजीव शुक्ला ने कहा- पीएम बिना अनुमति के रोड शो कर रहे हैं। आयोग क्या कर रहा है।
  • पीएम मोदी का रोड शो अस्सी घाट से गुजरा। इसके बाद उनका काफिला मदनपुरा (मुस्लिम बाहुल्य इलाका) से गुजरा।
  • रोड शो के दौरान लोग फूल बरसा रहे थे और मोदी-मोदी के नारे लगा रहे थे।
  • तीन साल में तीसरी बार बनारस में पीएम मोदी कर रहे हैं रोड शो।
  • चुनाव आयोग के आदेश से पुलिस ने बीजेपी के झंडे उतरवाए तो केंद्रीय मंत्री पियूष गोयल और पुलिस में झड़प हो गई।
  • इस रोड शो में मोदी ने अपनी पूरी ताकत झोक दी। पीएम के साथ अमित शाह और बीजेपी के लगभग सभी बड़े नेता मौजूद रहे।

दिल्ली|सरकार के नोटबंदी के फैसले को लेकर संसद के दोनो सदनों में आज भी हंगामा जारी है.... इसके संकेत कांग्रेस उपाध्‍यक्ष राहुल गांधी ने पहले ही सदन के बाहर दे दिए थे.... सदन के बाहर पत्रकारों से बात करते हुए उन्होंने कहा कि पेटीएम दरअसल 'पे टू मोदी' है... आपको बता दें कि विपक्षी दल के सांसद आज काली पट्टी बांधकर संसद में पहुंचे हैं और नोट बंदी के एक महीने पूरे होने पर वे मोदी सरकार का विरोध कर रहे हैं..... संसद परिसर में स्थित गांधी प्रतिमा के समक्ष भी विपक्ष ने प्रदर्शन किया..वहीं हंगामे के चलत ससंद की कार्यवाही बार-बार स्थगित करनी पड़ी|

दिल्ली|लोकसभा में TMC सांसदों ने बंगाल में सेना की हलचल का मुद्दा उठाया. जिसका जवाब देते हुए रक्षामंत्री मनोहर पर्रिकर ने कहा कि सेना को राजनीति में घसीटना गलत है, यह एक रुटीन अभ्यास है इसको मुद्दा बनाना गलत है. पर्रिकर बोले कि यह अभ्यास पुलिस के साथ मिलकर किया गया है, ऐसा ही अभ्यास 19, 21 नवंबर 2015 को भी हुआ था. पर्रिकर ने कहा कि ममता के सेना पर लगाए गए इन आरोपों से दुख हुआ है. यह मुद्दा राजनीतिक हताशा के कारण उठाया गया है.वहीं सेना के मेजर जनरल सुनील यादव ने आरोपों को नकारते हुए कहा है कि ममता बनर्जी के आरोप आधारहीन है, यह एक रुटीन अभ्यास है पिछले साल भी हमनें यहां अभ्यास किया था.
बसपा प्रमुख मायावती ने कहा कि बंगाल की सीएम के साथ ज्यादती हो रही है. ये संविधान पर बहुत बड़ा हमला है. सेना का राजनीतिकरण नहीं करना चाहिए. वहीं वेंकैया नायडू ने कहा कि यह एक संवेदनशील मामला है, क्योंकि यह सेना से संबंधित है. हमें महत्वपूर्ण मुद्दों को पटरी से नहीं उतारना चाहिए|

Page 6 of 12

Contact Us

For General Enquiry
  •  : info@a1tv.tv
  •  : 0141 - 4515121, 4515151
For Advertising
  • : advt@a1tv.tv,      a1tv.advt@gmail.com
  •  : +91- 98280-11251, 98280-10551
  •  : +91- 98280-10551