SJ Financial II - шаблон joomla Форекс

wrapper

Breaking News

आर्मी को पहली बार मिलेंगे अपने अटैक हेलिकॉप्टर, सरकार ने खरीद को दी मंजूरी

रक्षा मंत्रालय ने गुरुवार को भारतीय सेना के छह अपाचे अटैक हेलीकॉप्टर खरीदने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है. ये अत्याधुनिक हेलीकॉप्टर हेलफायर और स्टिंगर जैसी घातक मिसाइलों से लैस होंगे. AH-64E अपाचे हेलीकॉप्टरों को अमेरिकी सेना के अलावा कई दूसरे देशों की सेना भी इस्तेमाल करती है. चीन के साथ जारी तनाव के बीच इस मंजूरी को अहम माना जा रहा है.

भारतीय सेना को अमेरिकी कंपनी बोइंग से 4168 करोड़ रुपये की लागत से छह अपाचे लड़ाकू हेलीकॉप्टर और अन्य हथियार प्रणाली खरीदने के लिए मंजूरी मिल गई है. सेना में लड़ाकू हेलीकॉप्टर का यह पहला बेड़ा होगा.

अपाचे हेलीकॉप्टर मिसाइल और रडार से लैस होते हैं. रक्षा मंत्री अरुण जेटली की अध्यक्षता वाली रक्षा खरीद परिषद की बैठक में यह मंजूरी प्रदान की गयी. रक्षा मंत्रालय के सूत्रों ने कहा कि छह 'AH-64E' हेलीकॉप्टर सहायक उपकरणों, कलपुर्जों और शस्त्र प्रणाली के साथ आएंगे.

हालांकि सेना के इस प्रस्ताव का वायु सेना ने समर्थन नहीं किया. अभी तक थल सेना के पास कोई लड़ाकू हेलीकॉप्टर नहीं था. सूत्रों के अनुसार, डीएसी ने नौसेना के जहाजों के लिए यूक्रेन से 490 करोड़ रुपये की लागत से दो गैस टर्बाइन इंजन खरीदने के प्रस्ताव को भी मंजूरी प्रदान की.

Read more

चीन की धमकी: सिक्क्मि बॉर्डर से सेना हटाने को कहा, रोकी मानसरोवर यात्रा

नई दिल्ली/बीजिंग। सिक्किम में चीनी सेना के जवानों द्वारा भारतीय सीमा में प्रवेश करने और भारतीय सेना के दो बंकरों को ध्वस्त किए जाने की खबरों के बीच भारत और चीन की सेनाओं के जवानों के बीच सीमा पर तल्ख आमना-सामना हुआ।
भारतीय सेना ने जहां घटना पर टिप्पणी करने से इनकार कर दिया, चीन की सेना ने भारतीय सेना द्वारा ‘उकसाए’ जाने का कड़ा विरोध किया है और भारतीय सेना पर चीन की सीमा में प्रवेश करने और सड़क निर्माण को बाधित करने का आरोप लगाया है।
प्राप्त सूचना के अनुसार चीनी सेना के जवान सिक्किम-भूटान-तिब्बत के बीच सीमा के पास डोका ला क्षेत्र के लालटेन में भारतीय सीमा में घुस आए और भारतीय सेना के दो बंकर ध्वस्त कर दिए।
भारतीय सेना या रक्षा मंत्रालय की ओर से हालांकि अब तक इस संबंध में कोई आधिकारिक टिप्पणी नहीं की गई है।
इस बीच सोशल मीडिया पर एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है, जिसमें भारत और चीन की के जवान आमने-सामने हैं और उनमें तल्ख प्रतिक्रियाएं होती दिख रही हैं। हालांकि यह वीडियो कब का है, इसकी कोई जानकारी नहीं है।

 

 

Read more

भारतीय सेना की पाक पर बड़ी कार्रवाई, सबूत मांगने वाले सन्नाटे में

भारतीय सेना ने पाकिस्तानी सेना के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की है। भारतीय सेना ने नौशेरा सेक्टर में 20-21 मई को यह ऑपरेशन चलाया है। लगातार हो रही घुसपैठ के खिलाफ यह कार्रवाई की गई। जम्मू-कश्मीर में लगातार हो रही आतंकियों हमले को लेकर भारतीय सेना ने प्रेस कांफ्रेंस की। इस कार्रवाई का तीस सेकेंड का वीडियो भी जारी किया गया। जिसमें भारत की ओर से पाकिस्तान को कड़ा जवाब दिया जा रहा है।
सेना के मेजर जनरल अशोक नरूला ने कहा कि पाकिस्तान की सेना आतंकियों की मदद करती है, और सीमा पार भेजती है। उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर में सेना हमेशा शांति चाहती है। मेजर ने कहा कि पाकिस्तानी सेना ही हमारे देश में आतंकियों को भेजती है, वह लगातार भारतीय गांवों और ग्रामीणों को निशाना बनाती है। जब पाकिस्तान की सेना हम पर हमला करती है, तभी हम उनके खिलाफ कार्रवाई करते हैं।
पिछले वर्ष 18 सितंबर को हुए उरी हमले के जवाब में 28-29 सितंबर को भारतीय सेना के वीर जवानों के द्वारा पाकिस्तान में घुस कर की गई सर्जिकल स्ट्राइक थी। सेना ने पाकिस्तान की धरती में घुसकर कई आतंकी ठिकानों को ध्वस्त कर दिया था। इस सर्जिकल स्ट्राइक में 19 पैरा कमांडोज का महत्वपूर्ण योगदान रहा था।

Read more

भारतीय सेना को मिली नई तोपें, पोखरण में आज होगा परीक्षण

नई दिल्ली. भारतीय सेना को करीब तीन दशक बाद नई तोपें मिलेंगी. गुरुवार (18 मई) को अमेरिका के बीएई सिस्टम से मिली दो 155 एमएम/39 कैलिबर अल्ट्रा लाइट हॉविटजर्स (यूएलएच) तोपों का राजस्थान के पोखरण स्थित फायरिंग रेंज में परीक्षण किया जाएगा. करीब तीन दशक पहले भारत द्वारा स्वीडन की कंपनी से खरीदी गयी बोफोर्स तोपों ने भारतीय राजनीति में भूचाल ला दिया था. बोफोर्स तोपों की खरीद में दलाली लेने का आरोप लगा था.

एम-777 हॉविटजर्स तोपों के खरीद को लेकर अमेरिका से साल 2010 में बातचीत शुरू हुई थी. 26 जून 2016 को नरेंद्र मोदी सरकार ने 145 तोपों की खरीद की घोषणा की. फॉरेन मिलिट्री सेल्स (एफएमएस) के तहत सरकार से सरकार के बीच हुए 2900 करोड़ रुपये के इस सौदे पर नवंबर 2016 में अंतिम मुहर लगी. 1980 के दशक में स्वीडिश कंपनी से खरीदी गयीं बोफोर्स तोपों के बाद भारतीय सेना में कोई नई तोप नहीं शामिल की गयी थी.

बोफोर्स तोपों में दलाली के आरोप से आये राजनीतिक तूफान की वजह से सेना के तोपखाने से जुड़े तमाम सौदों पर एक तरह से रोक लग गयी थी जिसके कारण भारतीय सेना का तोपखाना अत्याधुनिक तोपों से महरूम था. भारतीय सेना साल 2020 तक 169 रेजिमेंट में 3503 तोपों को शामिल करना चाहती है. इन तोपों में भारत में निर्मित अत्याधुनिक तोपों भी शामिल होंगी. हालांकि भारतीय तोपों का निर्माण कार्य तय मियाद से पीछे चल रहा है.

जिन दो एम777 हॉविटजर्स तोपों का पोखरण में परीक्षण होगा उनसे विभिन्न प्रकार के आयुधों का इस्तेमाल करके देखा जाएगा. इन तोपों को भारतीय वातावरण में भारतीय आयुधों को दागने लायक बनाया गया है. अमेरिका, कनाडा और ऑस्ट्रेलिया की सेनाएं पहले ही एम777 हॉविटजर्स तोपों का प्रयोग कर रही हैं. इराक़ और अफ़ग़ानिस्तान में ये तोपों तैनात हैं.

Read more

Contact Us

For General Enquiry
  •  : info@a1tv.tv
  •  : 0141 - 4515121, 4515151
For Advertising
  • : advt@a1tv.tv,      a1tv.advt@gmail.com
  •  : +91- 98280-11251, 98280-10551
  •  : +91- 98280-10551