SJ Financial II - шаблон joomla Форекс

wrapper

Breaking News

राजस्थान आज

राजस्थान आज (153)

जयपुर : राजस्थान के भीलवाड़ा जिले की एक महिला ने अपने पति से इस आधार पर तलाक की मांग की है कि उसके घर में शौचालय नहीं है. कोर्ट ने आज महिला की तलाक याचिका को मंजूर कर लिया है. कोर्ट का कहना है कि घर में शौचालय का ना होना एक महिला के प्रति क्रूरता है, अत: उसकी याचिका पर सुनवाई होगी. 

महिला के वकील राजेश कुमार ने बताया कि कोर्ट उनकी याचिका पर सुनवाई के लिए तैयार है, क्योंकि शौचालय का ना होना महिला के प्रति क्रूरता है. तलाक की याचिका दायर करने वाली महिला ने बताया कि उसने अपने ससुराल वालों से कई बार शौचालय ना होने के बारे में उनसे बात की, लेकिन उन्होंने कभी मेरी बात पर ध्यान नहीं दिया, वे शिकायत करने पर मेरे साथ मारपीट करते थे.

राज्य सरकार ने गुरुवार को पांच घंटे की वार्ता के बाद गुर्जर सहित पांच जातियों को पांच फीसदी आरक्षण की मांग मान ली है। इसके लिए ओबीसी कोटे को 21 से बढ़ाकर 26 फीसदी करने पर सहमति हो गई है। नोटिफिकेशन के जरिए एसबीसी का पांच फीसदी आरक्षण बाद में अलग किया जाएगा। इस आरक्षण के लिए मानसून सत्र में विधानसभा में विधेयक लाने का संकेत दिया है। एसबीसी आरक्षण के लिए 10 साल में तीसरी बार विधेयक लाया जा रहा है।
गुर्जर समाज को पांच फीसदी आरक्षण की मांग को लेकर शाम करीब चार बजे मंत्रिमंडलीय कमेटी और समाज के प्रमुख नेताओं के बीच इंदिरा गांधी पंचायती राज भवन में वार्ता शुरू हुई। चार दौर की वार्ता के बाद मंत्रिमंडलीय कमेटी और गुर्जर समाज में ओबीसी कोटे को बढ़ाने पर सहमति हुई। कमेटी के आग्रह पर गुर्जर समाज के नेताओं ने वार्ता के दौरान ही ड्रॉफ्ट तैयार किया और मंत्रियों के साथ मुख्यमंत्री निवास पहुंच गए, जहां करीब दो घंटे की वार्ता के बाद दोनों पक्षों में सहमति बन गई।
बैठक में पंचायत राज मंत्री राजेन्द्र सिंह राठौड़, सामाजिक एवं न्याय अधिकारिता मंत्री अरूण चतुर्वेदी और सामान्य प्रशासन मंत्री हेम सिंह भड़ाना समेत गुर्जर आरक्षण संघर्ष समिति के नेता कर्नल किरोड़ी सिंह बैसला समेत समाज के करीब 15 से 20 प्रतिनिधि मौजूद रहे।

 पंचायती राज भवन में सरकार और गुर्जर समाज के बीच चली वार्ता में मंत्री और नेता कई बार अंदर-बाहर हुए। चार दौर की वार्ता के दौरान मंत्रियों ने कई विकल्प रखे और मांगे। फिर इन पर कुछ अधिकारियों के साथ दूसरे कमरे में बैठकर वार्ता की।
54 प्रतिशत होगा फिर प्रदेश में आरक्षण 49 फीसदी से बढ़कर
एसे होगा 54 प्रतिशत आरक्षण
ओबीसी : 21 के बजाय 26 प्रतिशत
एससी : 16 प्रतिशत
एसटी : 12 प्रतिशत

घोषणा पत्र में ओबीसी कोटे के वर्गीकरण का वादा था, जिसे अलग नोटिफिकेशन जारी कर पूरा करेंगे। इसके लिए मानसून सत्र में विधेयक लाएंगे।


डिजीफेस्ट यूआईटी ऑडिटोरियम में आयोजित किया गया है। डिजीफेस्ट-2017 के आयोजन में डिजिटल तकनीकी के क्षेत्र में स्टार्टअप की संभावनाओं के लिए यह कार्यक्रम किया गया है। बता दें कि 18 अगस्त को यहां सीएम का दौरा भी प्रस्तावित है। मुख्यमंत्री डिजीफेस्ट में शिरकत करने के साथ-साथ जिले के प्रमुख विकास कार्यों का शिलान्यास एवं लोकार्पण भी करेंगी। इसके लिए सीएम ने ट्वीट कर इसमें शिरकत करनेवाले लोगों को बधाई दी है। 
दुनियाभर में भगवान कृष्ण के जन्मोत्सव को हर्षोल्लास के साथ मनाया जा रहा है। उत्सवों की श्रृंखला में जयपुर में विराजे गोविंद देव के प्रागंण में भी बीती रात्रि से ही उत्सवों का सिलसिला जारी है।
कृष्ण जन्म के बाद आज भगवान गोविंद देव मंदिर में नंदोत्सव कार्यक्रम का आयो​जन किया गया। जहां सुबह उछाल कार्यक्रम में भगवान की ओर से प्रसाद भक्तों की ओर उछाला गया।

प्रतिवर्ष होने वाले इस कार्यक्रम में आज भी भगवान गोविंद को तोपों की सलामी दी गई। इस दौरान मंदिर परिसर में हजारों की संख्या में भक्त मौजूद थे।

भगवान गोविंद देव के अनूठे स्वरूप को निहारने के लिए भक्तों का अल सुबह से ही मंदिर पहुंचना प्रारंभ हो गया था। 

अमित शाह के आने से पहले जयपुर बीजेपी मुख्यालय में सब कुछ चकाचक हो गया है. कुछ पुराना नहीं बचा है. मुख्यालय रोशनी से नहा जाए इसके लिए चारों तरफ नई-नई लाइट की लड़‍ियां लगी हैं. अंदर घुसने पर देखें तो बीजेपी ऑफिस की फ्लोरिंग से लेकर सीलिंग तक सब बदल गया है. सुंदर सिंह भंडारी इसी जगह रहते थे, लिहाजा इसका नाम सुंदर सिंह भंडारी भवन है. यहां कुल 27 नए एसी लगाए गए हैं. गद्देदार कुर्सियां लाई गई हैं. वुडन फ्लोरिंग और नए फाल्स सिलिंग लगी हैं

अमित शाह जयपुर के सर्किट हाउस में रुकेंगे. इसके लिए विभाग ने करीब 15 लाख रुपए इसको सजाने के लिए दिए हैं. डायनिंग रूम और ड्राईंग रूम से लेकर बेडरूम तक ऐसे बदल दिया है, कि लगता ही नहीं कि ये कोई सर्किट हाउस है. इस तरह के दो रूम तैयार किए जा रहे हैं, जिनकी लाइटिंग पर ही करीब डेढ़ लाख रुपए खर्च हो रहा है.

लेकिन राजस्थान सरकार के समाज कल्याण मंत्री अरुण चतुर्वेदी कहते हैं कि इसमें कुछ नया नही है. जब पार्टी का मुखिया आता है, तो इंतजाम होते हैं और राष्ट्रीय अध्यक्ष गरीब दलित के घर खाना तो इसलिए खा रहे हैं, क्योंकि समाज के हाशिए पर रहे शोषित-वंचित वर्ग को ऊपर लाना हमारा लक्ष्य है. गरीब-वंचित शोषित को मुख्यधारा में लाना हमारा एजेंडा है. इसलिए खाना खा रहे हैं, इसमें कोई जाति की बात नही है . रिनोवेशन में नया कुछ नहीं है. समय-समय पर बदलते रहता है.

जयपुर। राजस्थान सरकार यहां के सरकारी स्कूलों के लिए अब आॅनलाइन भी पैसा जुटाएगी। इसके लिए ज्ञान संकल्प पोर्टल बनाया गया है। इस पोर्टल पर दानदाता मुख्यमंत्री विद्या दान कोष में दान दे सकेंगे।

राजस्थान में सरकारी स्कूलों के लिए संसाधन जुटाने के मामले में राजस्थान सरकार अब आम जनता का रूख कर रही है। इसके लिए कुछ दिन पहले स्कूलों में दानपेटियां रखने का आदेश जारी किया गया था। अब एक कदम आगे बढ़ाते हुए आॅनलाइन फंडिंग का इंतजाम भी किया जा रहा है। इसके लिए बनाए जा रहे ज्ञान संकल्प पोर्टल की शुरूआत 5 अगस्त, 2017 को होगी। इस ऑनलाइन प्लेटफॉर्म से भामाशाह और औद्योगिक घराने कॉर्पोरेट सोशल रेस्पोंसेबिलिटी (सीएसआर) के तहत जुड़कर सीधे राजस्थान सरकार को शिक्षा में किए जा रहे नवाचारों एवं आधारभूत सुविधाओं को बढ़ाने में अपना सहयोग दे सकेंगे, प्रदेश के स्कूलों को गोद ले सकेंगे।गौरतलब है कि राजस्थान में लम्बे समय से भामाशाह सम्मान समारोह भी आयोजित किया जाता है। इसके तहत सरकारी स्कूलों को आर्थिक सहयोग देने वाले बउे दानदाताओं को प्रतिवर्ष सम्मानित किया जाता है।

फरीदाबाद : 'पिन मैन' के नाम से मशहूर बद्रीलाल का पिन मैन होना उसकी सफलता नहीं बल्कि दर्द की कहानी है. उसके शरीर से करीब 90 पिन निकालकर एशियन अस्पताल के डॉक्टरों ने उसे जो नई जिंदगी दी है वह एक कीर्तिमान बन गया है.
राजस्थान के बूंदी निवासी 56 वर्षीय बद्रीलाल करीब 10 महीने पहले शुगर हुई .इसके बाद धीरे-धीरे बद्रीलाल की हालत बिगड़ती चली गई. पांव में दर्द और गले में सूजन होने पर डॉक्टरों को दिखाया .उनकी सलाह पर जब बद्रीलाल ने एक्स-रे कराया, तो एक चौंकाने वाला सच सामने आया. एक्स-रे में बद्रीलाल के शरीर में सुईयों की भरमार थी. पैर, पेट, गले में सुईयां ऐसी कोशिकाओं तक पहुंच गई थीं जो जानलेवा थी. डॉक्टर तो सकते में आए ही , खुद बद्रीलाल भी इस बात से अनजान था कि आखिर ये सुईंया उसके शरीर में आई कैसे ? डॉक्टरों ने बताया कि पिन गले और सांस की नली तक पहुंच गई है. इस कारण जान खतरे में है.
बता दें कि कई बड़े अस्पतालों ने बद्रीलाल का इलाज करने से इंकार कर दिया.आखिर फरीदाबाद के एशियन इस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेस अस्पताल ने इस चुनौती को स्वीकार किया और बद्रीलाल का इलाज करने का फैसला किया.एंडोस्कोपी और सीटी स्कैन से पता चला कि बद्रीलाल के शरीर में 150 से भी ज्यादा पिन हैं. आखिर डॉक्टरों ने ट्रैक्योस्टोमी तकनीक से बद्रीलाल को बेहोश कर करीब 6 घंटे की सर्जरी करके गले और पेट से करीब 90 सुईयां निकालीं.जिसमें से करीब 87 पिन गले और आसपास के हिस्से से और 3 पिन पेट से निकाली गईं
इस बारे में एशियन इस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेस के चेयरमैन डॉ. एन. के पांडे के अनुसार भारत में इतने सारे पिन किसी एक व्यक्ति के शरीर से निकालने की सफल सर्जरी करने का ये पहला मामला है. इस अनोखे केस को लिम्का बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज कराने के लिए भेजने की तैयारी की जा रही है. उधर अब बद्रीलाल के स्वास्थ्य में सुधार हो रहा है.

जयपुर. आरक्षण की मांग को लेकर आंदोलित जाट रेलवे ट्रैक पर आ गए हैं. भरतपुर में जाट प्रदर्शनकारियों ने अलवर-मथुरा रेल मार्ग को ब्लॉक कर दिया है. गुरुवार से शुरू हुआ जाट आंदोलन आज दूसरे दिन और भी ज्यादा आक्रामक हो गया है. कांग्रेस विधायक विश्वेंद्र सिंह की अगुवाई में जाट एकजुट हो गए हैं.

सुबह से ही आंदोलन में तेजी देखी जा रही थी. रेलवे ट्रैक रोककर बैठे जाटों ने आज रेल यातायात के साथ ही हाईवे पर भी जाम लगा दिया है. सुबह से ही आंदोलन और उग्र होता दिखाई दे रहा है. अलवर मथुरा रेलवे ट्रैक के जाम होने से राजस्थान की कनेक्टिविटी यूपी बिहार पश्चिम बंगाल से कट गयी है. इसके चलते मथुरा से जयपुर,बांदीकुई से आगरा फोर्ट,अलवर से मथुरा का यातायात पूरी तरह से बंद हो गया है.

आंदोलन का असर अब रेल के बाद सड़क मार्ग पर भी दिखायी दे रहा है. जाट आंदोलनकारियों ने भरतपुर के सड़कमार्ग को भी अवरुद्ध कर दिया है जिसके चलते भरतपुर का सम्पर्क सड़कमार्ग से पूरी तरह से कट गया हैं.आंदोलनकारियों ने सड़क पर बड़े-बड़े पेड़ गिरा दिये हैं.  जाट आरक्षण संघर्ष समिति के संरक्षक ​विश्वेन्द्र सिंह के नेतृत्व में आंदोलन अब धीरे-धीरे तेज हो रहा है.संघर्ष ​समिती का कहना है कि आंदोलन फिलहाल शांतीपूर्वक हो रहा है लेकिन अगर सरकार ने मांगें नहीं मानी तो किसी भी अप्रिय घटना की जिम्मेदार स्वयं सरकार होगी.

बता दें कि कांग्रेस विधायक विश्वेन्द्र सिंह के नेतृत्व में जाटों ने गुरुवार को भी रेलवे ट्रैक जाम किया था. करीब 2000 से ज्यादा जाट इस दौरान पटरियों पर पहुंचे थे.

राजस्थान के जयपुर एयरपोर्ट पर शुक्रवार सुबह जेट एयरवेज के एक विमान की इमरजेंसी लैंडिंग से हड़कंप मच गया.
विमान (9W 2369) में फ्यूल की कमी के चलते अचानक लैंडिंग की अनुमति मांगी थी. जेट एयरवेज का यह विमान लेह से दिल्ली की ओर जा रहा था. बताया जा रहा है कि विमान में 125 यात्री सवार थे और और उसमें फ्यूल महज 20 मील की दूरी तय करने जितना ही बचा था.
हालांकि जयपुर एयरपोर्ट पर पायलट की सूझबूझ से लैंडिंग हुई और सभी 125 यात्री सकुशल हैं. बता दें कि जेट एयरवेज की यह फ्लाइट की लेह से सुबह 7:40 से उड़ान भरकर 9:05 बजे दिल्ली में लैंडिंग होने वाली थी. जयपुर एयरपोर्ट पर फ्यूल लेने के बाद भी दिल्ली के लिए उड़ान के लिए यात्रियों को खास इंतजार करना पड़ा. इसके पीछे दिल्ली में मौसम खराब होना वजह बताया गया.

देश के 23 रेलवे स्टेशनों को नीलामी के बाद सुधार के लिए निजी हाथों में दिया जाएगा। निजी कम्पनियां न केवल आधुनिकरण पर जोर देंगी, वहीं इसके साथ ही पूरी तरह से कायापटल करेंगी।
 
दरअसल, रेलवे पुनर्विकास कार्यक्रम के तहत उदयपुर सहित देश के 23 रेलवे स्टेशनों को केंद्र सरकार ने पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप के तहत अन्तरराष्ट्रीय मानकों के आधार पर विकसित करने के लिए निजी कम्पनियों के हवाले करने का फैसला किया गया है। इस कार्यक्रम के पहले चरण में राजस्थान का एकमात्र शहर उदयपुर शमिल किया गया है। 28 जून को इनकी ऑनलाइन नीलामी होगी। इच्छुक कंपनी या व्यक्ति रेलवे की वेबसाइट पर जाकर स्टेशनों की बोली लगा सकेंगे। नीलामी के दो दिन बाद 30 जून को इसका ऐलान होगा।

जानकारी के मुताबिक उदयपुर के अलावा हावड़ा, मुंबई सेंट्रल, चेन्नई सेंट्रल, कानपुर, इलाहबाद जंक्शन जैसे रेलवे स्टेशन भी शामिल हैं। ये पूरी योजना करीब चार हजार करोड़ रुपए की है।

उदयपुर सिटी रेलवे स्टेशन के इस योजना में शामिल होने के बाद आमूलचूल परिवर्तन देखा जा सकेगा। इसमें कई तरह के बदलाव होंगे। निजी हाथों में रेलवे स्टेशन सौंपे जाने के बाद 45 साल तक की लीज पर स्टेशन निजी कम्पनी को दिया जाएगा। पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप के तहत स्टेशन पर होने वाले व्यवसाय और प्रबंधन जैसे साफ-सफाई पानी की व्यवस्था निजी हाथों में रहेगी। वहीं सुरक्षा व्यवस्था, टिकट बिक्री और पार्सल के साथ-साथ ट्रेनों के परिचालन की जिम्मेदारी रेलवे संभालेगा।

रेलवे की सुरक्षा व्यवस्था के अलावा निजी कंपनी के गार्ड भी स्टेशन परिसर के अलग-अलग हिस्सों में तैनात रहेंगे। इस अवधि में लीज ठेका लेने वाली कम्पनी को रेलवे स्टेशन को  विश्वस्तरीय सुविधाओं से परिपूर्ण करना होगा। निजी कम्पनियां रेलवे स्टेशन प्लेटफार्म पर फूड स्टॉल, रिटायरिंग रूम, फ्रेश एरिया, प्ले एरिया भी विकसित करेंगी। रेलवे स्टेशन की खाली जमीन पर कंपनी फाइव स्टार होटल, शॉपिंग मॉल और मल्टी प्लेक्स बना सकेंगी।
Page 1 of 11

Contact Us

For General Enquiry
  •  : info@a1tv.tv
  •  : 0141 - 4515121, 4515151
For Advertising
  • : advt@a1tv.tv,      a1tv.advt@gmail.com
  •  : +91- 98280-11251, 98280-10551
  •  : +91- 98280-10551