SJ Financial II - шаблон joomla Форекс

wrapper

Breaking News

देश-विदेश

देश-विदेश (114)

अमेरिका की मशहूर समाचार पत्रिका टाइम ने भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पेटीएम के संस्थापक विजय शेखर शर्मा को दुनिया के 100 प्रभावशाली लीडर्स की लिस्ट में शामिल किया है। साल 2017 के लिए जारी इस सूची में पीएम मोदी को दुनिया के सबसे प्रभावशाली लोगों की सूची में दूसरा स्थान मिला है। ब्रिटेन की प्रधानमंत्री थेरेसा मे इस सूची में पहले स्थान पर हैं। इस सूची में अमेरिका के नए राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को चौथा स्थान मिला है। अमेरिकी सीनेटर चुक शुमेर लिस्ट में ट्रंप से ऊपर तीसरे पायदान पर हैं। इस सूची में विकीलीक्स के फाउंडर जूलियन असांज और उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन को भी जगह मिली है।
पेटीएम के फाउंडर विजय शेखर शर्मा दुनिया के सबसे प्रभावशाली लोगों की सूची में जगह पाने वाले दूसरे भारतीय हैं। उन्हें टाइटंस कैटेगरी में जगह मिली है। 8 नवंबर, 2016 को भारत में नोटबंदी लागू होने के बाद पेटीएम का नाम देश में सबकी जुबान पर आ गया था। लोगों को पेटीएम की वजह से बड़ी राहत मिली थी। इस दौरान पेटीएम के बिजनेस में कई गुना बढ़ोत्तरी दर्ज की गई थी।

राजस्थान के भांडवपुर के एक गांव में जैन मुनि जयंतसेन सुरीशवरजी महाराज साहेब का निधन हो गया. जैन समुदाय के धर्मगुरु मुनि सुरीशवरजी महाराज के लाखों भक्त थे. . उनके निधन पर करीब हजारों की तादाद में लोग इकठ्ठा हुए थे. इन लोगों में से ज्यादार खास अंत्येष्टि कार्यक्रम के लिए इकट्ठा हुए थे. आपको बता दें कि अत्येष्टि के लिए बोली लगाई जाती है.

जब उनको मुखाग्नि देने के लिए बोली लगाई गई तब 33.5 करोड़ की बोली लगाकर एक कारोबारी ने सबको चौका दिया. सबसे ज्यादा बोली लगाकर अब वो मुनि जयंतसेन सुरीशवरजी महाराज को मुखाग्नि देंगे. इसके साथ ही अंत्येष्टि कार्यक्रम में शामिल अन्य कार्यो के लिए भी बोलियां लगाई गई. जिसमें उन्हें अंतिम बार नहलाने, चंदन लगाने, उनके शरीर को गर्म शॉल से ढकने जैसे कामों के लिए करोड़ों रुपयों की बोलियां लगाई गई.

आपको बता दें कि बोली लगाने की ये परंपरा (घी बोलो) 450 साल पुरानी  है | इन पैसों का इस्तेमाल जैन धर्म के प्रचार-प्रसार को फैलाने के लिए किया जाता हैं. इन पैसों से जैन मंदिरों को बनाने के साथ-साथ सामाजिक कामों को करने के लिए भी किया जाता है.

नई दिल्ली: श्रम मंत्री बंडारू दत्तात्रेय ने गुरुवार (20 अप्रैल) को कहा कि वित्त मंत्रालय ने कर्मचारी भविष्य निधि (ईपीएफ) पर 2016-17 के लिये 8.65 प्रतिशत ब्याज को मंजूरी दे दी है.

इस मंजूरी के बाद ईपीएफओ यह ब्याज अपने चार करोड़ अंशधारकों के खातों में डाल सकेगा.

मंत्री ने कहा- ‘‘वित्त मंत्रालय ने 8.65 प्रतिशत ब्याज को मंजूरी दे दी है. अब इस बारे में सूचना आएगी. औपचारिक चर्चा पूरी हो गयी है.’’

उन्होंने आगे कहा, ‘‘हम जल्दी ही अधिसूचना जारी करेंगे और चार करोड़ अंशधारकों के भविष्य निधि खाते में ब्याज डालेंगे.’’

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन के न्यासियों ने पिछले साल दिसंबर में ईपीएफ पर 8.65 प्रतिशत ब्याज की मंजूरी दी थी।

वित्त मंत्रालय, श्रम मंत्रालय से ईपीएफ ब्याज दर में कटौती और इसे पीपीएफ जैसी लघु बचत जमा योजना के समरूप करने के लिये जोर दे रहा है.

 

शेयर बाजार में ईपीएफओ ने किया है 18,000 करोड़ का इन्वेस्टमेंट 

ईपीएफओ ने शेयर बाजार में करीब 18,000 करोड़ रुपए इन्वेस्ट किया हुआ है। पिछले साल इस रकम पर ईपीएफओ को करीब 13% रिटर्न मिला है। ईपीएफओ शेयर बाजार में इन्वेस्टमेंट की सीमा मौजूदा 10% से बढ़ा कर 15% करने पर विचार कर रहा है।




यूपी एटीएस के 5 राज्यों की पुलिस के साथ मिलकर की गई छापेमारी में बिहार से भी चार लोगों को हिरासत में लिया गया है | गुरुवार को एटीएस ने मुंबई, जालंधर, बिहार के नरकटियागंज, बिजनौर और मुजफ्फरनगर में ऑपरेशन किए. इस दौरान तीन व्यक्तियों को आतंकवादी साजिश के आरोप में गिरफ्तार किया गया है. एटीएस ने बिहार के पश्चिम चंपारण जिले के नरकटियागंज प्रखंड के साची थाना क्षेत्र के एक गांव में भी छापा मारा.
दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल और यूपी एटीएस की टीम ने पश्चिम चंपारण के साठी थाना क्षेत्र स्थित बेलवा गांव से एक संदिग्ध को गिरफ्तार किया है। साठी थाना में गिरफ्तार संदिग्ध से पूछताछ की जा रही है। वहीं, एसपी विनय कुमार भी वहां पहुंचे हैं।
उन्होंने कहा कि बिहार पुलिस जांच में सहयोग कर रही है। एक युवक को बेलवा से हिरासत में लिया गया है। उसकी गतिविधियां संदिग्ध थी। जांच के बाद आगे की जानकारी दी जाएगी।

चौकाने वाली खबर सामने आयी है | देश के एक करोड़ लोगों के बैंक खाते, डेबिट-क्रेडिट कार्ड, व्हाट्स अप और फेसबुक की निजी जानकारियां बाजार में खुले आम बिक रही हैं. दिल्ली पुलिस ने ऐसे ही एक गैंग का पर्दाफाश किया है.
दिल्ली पुलिस के डीसीपी आर. बानिया ने इस गैंग के खुलासे की जानकारी दी है. डीसीपी ने बताया, यह गैंग बैंक अधिकारियों के साथ मिलकर लोगों का निजी डेटा हासिल किया करते थे.
पुलिस जांच में पता चला है कि यह गैंग 50 हजार लोगों की निजी जानकारी 10-20 हजार रुपये में बेचा करते थे. मतलब एक व्यक्ति की निजी जानकारी 10-20 पैसे में बेची जा रही है. बताया जा रहा है कि आरोपी ने डेटा मुंबई के एक सप्लायर से खरीदा था.
सस्ते रेट में बेची जाने वाली जानकारी में अकाउंट होल्डर का डेबिट कार्ड नंबर, कार्ड होल्डर का नाम, जन्मतिथि और मोबाइल नंबर शामिल है. यह सारा डेटा कई कैटिगरीज में बंटा हुआ है, जिसका कुल साइज 20 जीबी से ज्यादा है.
कैसे होता है डाटा का इस्तेमाल ?
ये गैंग लाखों करोड़ो लोगों का डेटा किसी व्यक्ति या फर्जी कॉल सेंटर को बेचते हैं. डेटा खरीदने वाले ग्रुप, बैंक कर्मचारी बनकर तरह-तरह की बातें बनाकर यूजर से उनके कार्ड के सीवीवी नंबर और ओटीपी की मांग करते है. क्योंकि उनके पास यूजर की तमाम दूसरी जानकारी होती है, तो कोई भी आम इंसान उनके जाल में आसानी से फंस जाता है.
एक बार किसी शख्स का CVV और OTP नंबर हासिल करने के बाद उसके खाते से कितने भी रुपये निकाले जा सकते है. इसके अलावा डाटा खरीदने वाले गैंग यूजर को तरह-तरह लुभाने ऑफर देकर या कार्ड ब्लॉक होने की बात कहकर किसी तरह सीवीवी नंबर हासिल कर लेते हैं.

वाशिंगटन। अमेरिकी सेना ने लड़ाई के लिए तैनात अपना अब तक का सबसे बड़ा गैर परमाणु बम पाकिस्तानी सीमा के पास पूर्वी अफगानिस्तान में इस्लामिक स्टेट सुरंग परिसर में बृहस्पतिवार को गिराया.| इस हमले में 36 आईएस आतंकियों की मौत हुई है। इसके अलावा दावा किया जा रहा है कि इसमें 21 भारतीयों की भी जान गई है जिनमें से एक केरल का रहने वाला 21 वर्षीय युवक था। हालांकि अभी इसकी कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है। लेकिन उसके परिवार का कहना है कि उनका बेटा इस हमले में मारा गया है।

मदर ऑफ ऑल बम कहा जाने वाला यह एक गैर परमाणु बम है जिसे जीबीयू-43 नाम दिया गया है। यह बम अफगानिस्तान के नांगरहार प्रांत में गिराया गया है। इस बम की ताकत का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है इसकी धमक पाकिस्तान के कई इलाकों में महसूस हुई।

इस बम के बनने के बाद यह पहली बार है जब इसका उपयोग किया गया है। अमेरिकी सेना के अधिकारी ने जीबीयू-43 गिराए जाने की पुष्टि की है। अमेरिका ने यह कार्रवाई आईएस के साथ लड़ाई में सेना के विशेष बल ग्रीन बेरेट के कमांडो के मारे जाने के कुछ ही दिनों बाद की है।

जीबीयू-43 का आधिकारिक नाम मैसिव आर्डिनेंस एयर ब्लास्ट (एमओएबी) बम है। इसको मदर ऑफ ऑल बम (एमओएबी) भी कहा जाता है।

बम का परीक्षण 2003 में किया गया लेकिन गुरुवार से पहले प्रयोग नहीं किया गया। 21,000 पौंड वाले इस बम की विशालता का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि पिछले सप्ताह सीरिया में दागे गए हर टॉमहॉक क्रूज मिसाइल का वजन 1,000 पौंड था।

नई दिल्ली: संसद में आज कुलभूषण जाधव को पाकिस्तान में मौत की सजा सुनाए जाने का मामला जोरशोर से उठा। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने आज राज्यसभा में कहा कि भारत यह सुनिश्चित करने में कोई कसर नहीं छोड़ेगा कि पाकिस्तान में भारतीय नागरिक को न्याय मिले। भारत सरकार और जनता इस आशंका को अत्यंत गंभीरता से ले रहे हैं कि एक बेकसूर भारतीय नागरिक को पाकिस्तान में बिना समुचित प्रक्रिया के, मौत की सजा सुनाई गई है। हमारे पास यह कहने के अलावा और कोई विकल्प नहीं है कि अगर इस सजा की तामील की जाती है तो यह सुनियोजित हत्या की कार्रवाई होगी।


उन्होंने कहा कि कुलभूषण जाधव पर जो आरोप लगाए गए हैं, वह मनगढ़ंत तथा हास्यास्पद हैं और उनके द्वारा गलत काम करने का कोई सबूत नहीं है। जाधव ईरान में कारोबार करते थे और वहां से उनका अपहरण कर पाकिस्तान ले जाया गया। उन्हें बचाव का मौका दिए बिना मुकदमा चलाया गया। उन्होंने कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद के एक प्रश्न के जवाब में कहा कि सरकार न केवल यह सुनिश्चित करेगी कि पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट में जाधव को बेहतरीन वकील मुहैया कराए जाएंं बल्कि पाकिस्तान के राष्ट्रपति के समक्ष भी यह मुद्दा उठाएगी।

भारत की छवि खराब करने की कोशिश
आजाद ने कहा कि जाधव को एक सुनियोजित तरीके से फंसाया गया है। यह विश्व मंच पर भारत की छवि खराब करने की कोशिश है। पाकिस्तान अब तक भारत के साथ जो कुछ करता आया है, उसका आरोप अब वह जाधव पर मढ़ कर उन्हें फंसा रहा है। यह मामला सत्ता पक्ष या विपक्ष का नहीं बल्कि पूरे देश का है। उनके इस कथन की सराहना करते हुए सुषमा ने कहा ‘जाधव पूरे हिन्दुस्तान के बेटे हैं और उन्हें बचाने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ी जाएगी।’ वह जाधव के परिवार से संपर्क बनाए हुए हैं। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व रक्षा मंत्री ए के एंटनी ने कहा, पूरा देश इस घटना को लेकर हतप्रभ है। पाकिस्तान को कड़े शब्दों में यह संदेश देना चाहिए कि इसके दूरगामी नतीजे होंगे।

केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने कुलभूषण जाधव के मामले को बेहद गंभीर बताते हुए कहा कि दो देशों के बीच जो राजनयिक संबंध होते हैं, न्याय के लिए जो कानूनी प्रक्रिया होती है - पाकिस्तान उन सब का उल्लंघन कर रहा है. बेहद नाराजगी भरे स्वर में गिरिराज सिंह ने कहा कि कुलभूषण जाधव पर भारतीय जासूस होने का आरोप सरासर बेबुनियाद और झूठा है. गिरिराज सिंह ने कहा कि पाकिस्तान को यह याद रखना चाहिए कि कुलभूषण जाधव जैसे मामलों से भारत-पाकिस्तान के संबंधों पर असर पड़ेगा.

गौरतलब है कि मुंबई के रहने वाले पूर्व नेवल ऑफिसर 46 वर्षीय कुलभूषण जाधव को पिछले साल पाकिस्तान में गिरफ्तार किया गया था. पाकिस्तान ने उन पर आरोप लगाया कि वह RAW के एजेंट हैं और भारत के लिए पाकिस्तान के बलूचिस्तान इलाके में जासूसी कर रहे थे.

इससे पहले 2013 में जासूसी के आरोप में बंद भारतीय नागरिक सरबजीत सिंह की पाकिस्तान की एक जेल में कैदियों ने हत्या कर दी थी. उन्हें भी मौत की सजा सुनाई गई थी और वह 16 सालों से पाकिस्तान की जेल में बंद थे.

नई दिल्ली: बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना आज भारत के चार दिन के दौरे पर दिल्ली पहुंच गई हैं। भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एयरपोर्ट पर स्वागत के लिए पहुंचे । पीएम मोदी बांग्लादेश की शेख हसीना के स्वागत के लिए प्रोटोकॉल के विपरीत आज यहां आईजीआई हवाईअड्डा पर खुद पहुंचे। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि प्रधानमंत्री के हवाईअड्डे जाने के लिए कोई विशेष व्यवस्था नहीं की गई थी और वह सामान्य यातायात के बीच हवाईअड्डा पहुंचे।

प्रणब मुखर्जी और सोनिया से करेंगी मुलाकात
आपको बता दे कि इससे पहले दोनों देशों की आेर से जारी संयुक्त बयान में कहा गया था, ‘‘बांग्लादेश की प्रधानमंत्री की आगामी यात्रा से भारत एवं बांग्लादेश के बीच सौहार्दपूर्ण एवं सहयोग संबंधों का और विस्तार होने की संभावना है और इससे दोनों नेताआेें के बीच मजबूत मैत्री संबंधों एवं विश्वास का निर्माण होगा।’’ हसीना राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी से और विपक्ष की नेता सोनिया गांधी से भी मुलाकात करेंगी। रविवार को वह अजमेर जाएंगी और सोमवार को भारतीय कारोबारियों से मिलेंगी।

श्रद्धांजलि देने के लिए कार्यक्रम में करेंगी शिरकत
वर्ष 1971 में बांग्लोदश के ‘मुक्ति संग्राम’ में शहीद हुए भारतीय सेना के जवानों को श्रद्धांजलि देने के लिए मानेकशॉ सेंटर में आयोजित एक कार्यक्रम में भी वह शिरकत करेंगी। दोनों पक्षों के कूटनीतिज्ञों को आशा है कि बांग्लादेश की प्रधानमंत्री की यात्रा ढाका-नई दिल्ली के ‘‘एेतिहासिक रिश्ते’’ को नए मुकाम तक ले जाएगी और इससे कारोबार एवं वाणिज्य, अर्थव्यवस्था एवं आपसी संपर्क समेत विभिन्न क्षेत्रों में सहयोग के नए आयाम खुलेंगे।

सभी जानते है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सोशल मीडिया पर एक्टिव रहते हैं, और अपने चाहने वालों व आम इंसान से लगातार सोशल मीडिया के जरिये जुड़ने की कोशिश करते हैं.पीएम मोदी टि्वटर पर देश-विदेश के कई बड़े नेताओं और राष्ट्राध्यक्षों को फॉलो करते हैं लेकिन इस लिस्ट में अब एक आम आदमी का नाम भी जुड़ गया है।
मैसूर के रहने वाले आकाश पेशे से एक कंपनी के सोशल मीडिया टीम मैनेज़र हैं. उन्होंने हाल ही में अपनी बहन की शादी के कार्ड को ट्वीट किया था, शादी के कार्ड में स्वच्छ भारत अभियान के चिन्ह महात्मा गांधी के चश्मे की तस्वीर भी लगी है. जो कि स्वच्छ भारत के लिए जागरुकता फैला रही है. आकाश ने इसी को लेकर पीएम मोदी को टैग करते हुए ट्वीट किया था, 'उन्होंने लिखा था कि उनके पिता के कहने पर वह अपनी बहन की शादी के कार्ड में स्वच्छ भारत अभियान का लोगो लगा रहे हैं.'
मोदी ने किया आकाश को फॉलो
आकाश के इस ट्वीट के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस ट्वीट को रिट्वीट किया और आकाश को फॉलो भी किया. जिसके बाद से ही आकाश की खुशी का ठिकाना नहीं है. आकाश के इस ट्वीट को उनके यहां के सांसद प्रताप सिन्हा ने भी रिट्वीट किया.

Page 5 of 13

Contact Us

For General Enquiry
  •  : info@a1tv.tv
  •  : 0141 - 4515121, 4515151
For Advertising
  • : advt@a1tv.tv,      a1tv.advt@gmail.com
  •  : +91- 98280-11251, 98280-10551
  •  : +91- 98280-10551